Advertisement

CANARA BANK ने 50 लाख के फर्जी चेक क्लीयर कर दिए, पीड़ित ने कराई FIR | BUSINESS NEWS



ग्वालियर। कैनरा बैंक में चेक क्लीयर करने से पहले उनके असली या नकली होने की शायद जांच ही नहीं की जाती। यहां कैनरा बैंक ने 50 लाख रुपए के फर्जी चेक क्लीयर कर दिए। बैंक फर्जीवाड़े को पकड़ ही नहीं पाया। जब पीड़ित ने शिकायत दर्ज कराई तब मामला सामने आया। फर्जी चेक 15 अक्टूबर से 13 नवंबर के बीच जमा किए गए। 

गोला का मंदिर थाना पुलिस ने बताया कि कैनरा बैंक के अधिकारी संजय पुत्र बीएल मिश्रा निवासी आगरा ने रिपोर्ट दर्ज कराई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि कैनरा बैंक की गोला का मंदिर शाखा में अक्टूबर में मोनू बाथम निवासी पंजाबीपुरा ने खाता खोला। इस खाते में 15 अक्टूबर से 13 नवंबर के बीच अलग-अलग चेकों से 50 लाख रुपया जमा कराए गए और फिर बाद में यह रुपया निकाल भी लिया गया। खातों से अधिक लेनदेन होने पर बैंक प्रबंधन ने जब चेकों का मिलान किया तो उसे चेक फर्जी मिले। 

मानू तो मजदूर निकला, मास्टर माइंड अब भी लापता
मोनू का कहना है कि वह मजदूरी करता है। उसे दो माह पूर्व एक व्यक्ति मिला था। उसने बड़ा फायदा होने की बात कहकर उसका खाता खुलवाया था। मोनू को तीन युवक दो माह पहले मिले थे और रिलायंस कंपनी में नौकरी का झांसा देकर उसके बैंक खाते खुलवाए थे। यह ठग युवक दिल्ली के बताए गए हैं। मोनू को ठगों ने अब तक 50 हजार रुपए व 17 हजार रुपए का मोबाइल भी दिया है।