Loading...

लो जी, 19 में जीत के लिए 18 की हार को भुनाएगी BJP | POLITICAL NEWS

भोपाल। विधानसभा चुनाव ( Assembly elections ) में हार के बाद भाजपा सबक लेने के मूड में नजर नहीं आ रही। सीएम शिवराज सिंह बिना वक्त गंवाए एक बार फिर यात्रा पर निकलने वाले हैं। यह किनारे पर हुई हार की 'आभार' यात्रा होगी। अब चूंकि शिवराज सिंह सीएम नहीं हैं इसलिए सभी जिलों में जाएंगे। वहां भी जहां जाने से अब तक डरते थे। 

भाजपा सूत्रों से खबर आ रही है वह सड़क मार्ग से प्रदेश के 52 जिलों में जाएंगे। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने चुनाव से पहले नर्मदा यात्रा, जनआशीर्वाद यात्रा, जनादेश यात्रा ( Narmada Yatra, Jan Arashirvad Yatra, Janaday Yatra ) निकाली थी। 150 से ज्यादा सभाएं कीं, इसके बावजूद चौथी बार सरकार बनाने में सफल नहीं हो सके। असल में, 2019 में लोकसभा चुनावों के पहले हार से निराश कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए शिवराज सिंह और पार्टी ने आभार यात्रा निकालने का फैसला किया है। 
 
प्रदेश भाजपा ने आभार यात्रा की तैयारियां शुरू कर दी हैं। शिवराज सिंह चौहान सड़क मार्ग से हर जिले में पहुंचेंगे और जनता का आभार जताएंगे। हालांकि अभी तारीख तय नहीं हुई है। जल्द ही आभार यात्रा की तारीख का ऐलान किया जाएगा। चुनाव में मिली हार के बाद कार्यकर्ताओं में निराशा है, लोकसभा चुनाव नजदीक है जिसके चलते पार्टी कार्यकर्ताओं को एक बार फिर जुट जाने का संकल्प दिलाया जाएगा। 

गुरुवार को दोपहर में प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। उन्होंने मीडिया के केंद्र में जाने के सवाल पर कहा कि मेरा आदि, मेरा मध्य और मेरा अनंत मध्य प्रदेश है। यहां की जनता ही मेरे लिए भगवान है। मैं हृदय और अंतर आत्मा से जनता से जुड़ा हूं। हार और जीत मायने नहीं रखती है। मेरे लिए प्रदेश सबसे पहले है। 

यात्रा के जरिए ये message देना चाहते हैं SHIVRAJ : 

शिवराज इस यात्रा के जरिए ये संदेश देना चाहते हैं कि सिर्फ एक हार से वह चुप नहीं बैठने वाले हैं। इस्तीफे के बाद उन्होंने मीडिया से साफ कहा था कि अब हम चौकीदार की भूमिका में हैं, और दमदार विपक्ष है, चुप नहीं बैठेंगे।