मैं रामेश्वर के साथ खड़ा हूं, समृद्ध मध्यप्रदेश की परिकल्पना पूरी करके रहूंगा: शिवराज सिंह | MP ELECTION

26 November 2018

भोपाल। कांग्रेस बदलाव लाना चाहती है लेकिन वह सिर्फ कुर्सी में बदलाव चाहती है। मैं प्रदेश के लोगों की जिंदगी में बदलाव लाना चाहता हूं। इसके लिए दिन-रात मेहनत कर रहा हूं। कांग्रेस के जमाने में तो नेता सरकार के बजट के पैसों पर ही ऐश करते थे, लेकिन भाजपा की सरकार ने प्रदेश के गरीबों की भलाई में पैसा खर्च किया है, उनके जीवन में बदलाव लाने पर खर्च किया है। कांग्रेस के नेता बड़े दूध के धुले बन रहे हैं, लेकिन कांग्रेस के नेताओं की हकीकत कौन नहीं जानता। प्रदेश के विकास पर कांग्रेसियों को गुस्सा आता है, तो आता रहे, मैं तो लोगों की जिंदगी बदलकर रहूंगा। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को कोलार विधानसभा में पार्टी प्रत्याशी रामेश्वर शर्मा के समर्थन में आयोजित अपनी अंतिम चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कही। 

वोटों के लिए लोगों भड़का रहे Congress के नेता

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के नेता वोटों के लिए पागल हैं, उन्हें रात में भी कुर्सी दिखाई दे रही है। इसके लिए हर तरह की कोशिश कर रहे हैं। भाजपा और मुझे बदनाम कर रहे हैं, बंद कमरों में उनके नेता कमलनाथ बैठक कर रहे हैं और मुस्लिम भाइयों को भड़का रहे हैं। वे उनसे कह रहे हैं कि 90 प्रतिशत वोट करना नहीं तो हार जाएंगे। राहुल बाबा दिल्ली से आकर किसान भाइयों को झूठे सपने दिखा रहे हैं। उनसे वादा कर रहे हैं कि सरकार बनते ही कर्जमाफी कर देंगे। श्री सिंह ने कहा कि पंजाब और कर्नाटक की जनता से भी वादा किया था,  लेकिन आज तक उनकी कर्जमाफी नहीं कर सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि राहुल बाबा जिन्हें यह पता नहीं कि प्याज जमीन के अंदर लगती है या बाहर लगती है वे दिल्ली से आकर प्रदेश के किसानों को झूठा सपना दिखा रहे हैं। कांग्रेस के नेताओं को रातों में नींद नहीं आ रही है। वे कुर्सी के लिए रातभर करवटें बदलते रहते हैं और मुझे गाली देते रहते हैं।

कह रहे हैं मामा तो गयो, फिर कहेंगे मामा तो आ गयो

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पंजाब के कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के मामा तो गयो वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि वे अभी तो कह रहे हैं कि मामा तो गयो, लेकिन फिर कहेंगे कि मामा तो आ गयो। मुख्यमंत्री ने कहा कि मामा कहीं नहीं गयो, मामा वोटिंग मशीन में कमल का फूल बनकर फिर सामने आ जाएंगे। मामा तो अपने प्यारे भांजे-भांजियों के दिल में बस गयो, मामा तो अपनी प्यारी बहनों और माताओं के दिल में बस गयो, मामा तो प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता के दिल में बस गयो है, मामा कहीं नहीं गयो है फिर आ जाएगा।

पुराना तवा हो चुके हैं KAMALNATH

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ कहते हैं कि पुराना तवा हो जाए, तो इसे बदल देना चाहिए। लेकिन सबसे पुराना तवा तो कमलनाथ ही हैं उन्हें ही सबसे पहले बदलना चाहिए। कब से रखा है, यदि बदलाव की बात है तो वहीं से शुरू करो। उन्होंने कहा कि कमलनाथ ने हिमाचल प्रदेश में व्यास नदी के किनारे अपनी फाइव स्टार होटल के लिए नदी का मुंह मोड़ दिया था, जिसके कारण बाढ़ आई थी। लेकिन जब मंत्री बने तो इसकी मंजूरी करवा ली और होटल तान दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया दूध के धुले बन रहे हैं और आजकल गले में नींबू-मिर्ची की माला पहनकर घूम रहे हैं। वे 44 साल से सीधी का केस लड़ रहे हैं और ट्रस्टों की जमीन बेचकर अपना घर भर रहे हैं। इनके नेता जो भ्रष्टाचार के आंकठ में गले-गले तक डूबे हुए हैं वे हम पर आरोप लगा रहे हैं।

परदेशी चले जाएंगे, मामाजी ही साथ निभाएंगे

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस के नेता प्रदेश में आते हैं, लेकिन शाम होते ही हवाईजहाज में बैठकर दिल्ली चले जाते हैं। राहुल बाबा का तो ज्यादातर समय विदेशों में कटता है। ये मध्यप्रदेश में बदलाव की बातें करते हैं, लेकिन यहां रहना नहीं चाहते। ये तो परदेशी हैं, ये क्या साथ निभाएंगे। साथ निभाने के लिए मामा शिवराजसिंह चौहान ही है।

समृद्ध मध्यप्रदेश की परिकल्पना साकार करना है

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि मुझे समृद्ध मध्यप्रदेश की परिकल्पना को साकार करना है, इसके लिए प्रदेश में चौथी बार भाजपा की सरकार बनाने के लिए आशीर्वाद मांग रहा हूं। उन्होंने कहा कि 2003 से पहले मध्यप्रदेश की क्या स्थिति थी। गड्ढों में सड़कें थी, बिजली मिलती नहीं थी, सिंचाई एवं पीने के लिए पानी मिलता नहीं था। किसान कर्ज में डूबा हुआ था, लेकिन हमने 15 वर्षों में मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य से बाहर निकालकर पहले विकासशील राज्य बनाया, फिर विकसित राज्य बनाया और अब समृद्ध राज्य बनाना है। उन्होंने कहा कि इस समृद्ध राज्य में हर गरीब का पक्का मकान होगा, कोई भी झोपड़ी में नहीं रहेगा। हर गरीब के बैंक खाते होंगे। मेरे पास ऐसी योजनाएं हैं, जिनसे कोई भी किसान कर्जे में नहीं रहेगा। बच्चों के पास रोजगार होंगे।

हमारी SCHEMES हर वर्ग के लिए

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने अटलबिहारी समृद्धि कॉरीडोर की नींव रखी है। इसके साथ ही चंबल कॉरीडोर, नर्मदा कारीडोर भी बनाना है। इनके आसपास हम उद्योग लगाएंगे, ताकि प्रदेश के युवाओं को रोजगार के लिए मध्यप्रदेश से बाहर नहीं जाना पड़े। इसके साथ कारीगरों के लिए युनिवर्सिटी बनाने की भी तैयारी है, ताकि प्रदेश के एक-एक कारीगर को डिग्री मिले और वे अपना हुनर ज्यादा बेहतर तरीके से निखारें। भाजपा की सरकार ने स्मार्टसिटी की कल्पना के साथ ही स्मार्ट विलेज की भी परिकल्पना की है। गांवों को भी शहरों की तरह सुंदर बनाना है। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने हर वर्ग का ध्यान रखा है। किसी भी वर्ग को छोड़ा नहीं है। हमने प्रदेश की जनता के इलाज में कोई कमी नहीं रखी है। इलाज के लिए सरकार ने पैसा भी दिया है। फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं, इसके लिए फूड प्रोसेसिंग यूनिवर्सिटी की परिकल्पना भी हम कर रहे हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा युवाओं को इस क्षेत्र में स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकें।

गुस्सा आता है, आता रहे, मैं तो विकास करता रहूंगा

मुख्यमंत्री ने कहा कांग्रेस के नेताओं को गुस्सा आता है, लेकिन उन्हें गुस्सा आता है तो आता रहे, मैं तो प्रदेश का विकास करता रहूंगा। उन्होंने कहा कि मैं गरीबों का कल्याण करता हूं तो उन्हें गुस्सा आता है, मैं प्यारी बेटियों को लाड़ली लक्ष्मी बनाता हूं तो इस पर भी उन्हें गुस्सा आता है। इस मौके पर बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारी, पार्टी कार्यकर्ता एवं आमजन मौजूद रहे।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->