अतिथि शिक्षक बिन वेतन, अध्यापक-पेंशनर बिना एरियर्स मनाएंगे दीवाली | employee News

04 November 2018

जबलपुर। दीपावली जैसा बड़ा त्यौहार सामने है जिला प्रशासन अपने पुराने ढर्रे पर ही चल रहा है। जिले में कार्यरत बड़ी संख्या में अतिथि शिक्षकों को अगस्त माह से नियुक्ति होने के उपरांत अभी तक वेतन भुगतान नहीं हुआ है जिससे उनके सामने त्यौहार पर आर्थिक संकट खड़ा हुआ है ।बगैर वेतन भुगतान के नौजवान बेरोजगार युवाओं के बीच भारी वित्तीय संकट खड़ा हो गया है लगता हैं कि उनका त्यौहार फीका पड़ सकता है।

इसी प्रकार वृद्ध और वरिष्ठ नागरिक पेंशनरों को सातवें वेतन के अनुसार पेंशन भुगतान और निर्धारण एवं सातवें वेतन की पेंशन के एरियर राशि का भुगतान होता नहीं दिख रहा है ।साल भर का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण 5 दिन का दीपावली जैसा त्यौहार फीका पड़ रहा है।इस उम्र में कार्यालयों और बैंकों के चक्कर काटने के लिए बाध्य हो रहे हैं।

इसी तरह अध्यापक संवर्ग बीते 6 माहो से अपने छठवें वेतन की एरियर राशि और सेवा पुस्तिकाओं के सत्यापन को तरस रहा है और उसके सारे त्यौहार ऐसे ही आर्थिक कठिनाइयों और अधिकारियों के द्वारा  किए जा रहे वित्तीय शोषण की भेंट चढ़ रहे हैं।अपने वेतन की अवशेष राशि को पाने ही उन्हें बेवजह संकुल प्राचार्य और बाबुओं की झिड़कियां और उच्चाधिकारी डीडीओ की बेरुखी का सामना करना पड़ रहा हैं।अध्यापकों ने विलंब का कारण कार्यालयों की अनुचित मांगो की पूर्ति न किया जाना है जिस वजह से न तो आधे अध्यापकों की सेवा पुस्तिकाओं का स्थानीय लेखाधिकारी जिला पंचायत से वेतनमान निर्धारण के सत्यापन की कार्यवाही जिले में पूरी तरह करवाई गई और न ही लेनदेन में असहमति और असमर्थता जाहिर करने वाले ईमानदार अध्यापकों के एरियर भुगतान की ओर ध्यान दिया जा रहा है।

कर्मचारी संवर्गों के संगठनों का कहना है कि जिला प्रशासन और उच्चाधिकारी जिले के अंतर्गत कार्यरत सामान्य कर्मचारियों की सेवा संबंधी कठिनाइयों की ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।लंबे समय से जमे जिला शिक्षा अधिकारी नरसिंहपुर जेके मेहर और जिला परियोजना समन्वयक नरसिंहपुर एसके कोष्टी, डीईओ कटनी और आगर जिले के स्थानांतरण की मांग 03वर्ष से एक ही पद और एक ही स्थान पर जमे जिला और विभाग प्रमुख को हटाने के नियम के तहत की है।जिले में निर्वाचन कार्यालय और निर्वाचन अधिकारी द्वारा राज्य निर्वाचन आयोग को ऐसे अधिकारी के नाम प्रेषित करने की जरूरत बताई गई हैं।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week