टिकट मिलते ही MLA ने सरकारी भवन पर पार्टी का झंडा टांग दिया, गिरफ्तार | MP NEWS

Advertisement

टिकट मिलते ही MLA ने सरकारी भवन पर पार्टी का झंडा टांग दिया, गिरफ्तार | MP NEWS


इंदौर भाजपा विधायक दिलीप सिंह परिहार को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्हे आचार संहिता उल्लंघन के मामले में गिरफ्तार किया गया। बताया जा रहा है कि भाजपा की पहली लिस्ट में उनका नाम आते ही उन्होंने सरकारी भवन में जश्न मनाना शुरू कर दिया और भाजपा का झंडा टांग दिया। इसी के चलते यह कार्रवाई हुई। 

शुक्रवार को भाजपा ने विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पहली सूची जारी की थी। पार्टी ने विधायक दिलीप सिंह परिहार पर भरोसा जताते हुए उन्हें दोबारा नीमच विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी बनाया है। इसकी जानकारी लगते ही बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उनके सरकारी आवास पर जमा हो गए और जश्न शुरू कर दिया। परिहार के समक्ष सरकारी आवास पर पार्टी का झंड़ा लहराने के साथ ही जमकर पटाखे फोड़े गए और भाजपा जिंदाबाद के नारे लगाए गए।

प्रदेश में आदर्श आचार संहिता लागू होने से किसी भी सरकारी आवास पर किसी पार्टी का झंडा फहराना आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन में आता है। इसी मामले को गंभीरता से लेते हुए जिला निर्वाचन विभाग ने धारा 188 के तहत भाजपा प्रत्याशी सहित तीन लोगों पर मामला दर्ज किया। मामले में पुलिस ने परिहार को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें 10 हज़ार रुपए के मुचलके पर रिहा कर दिया गया।

सहायता केंद्र के लिए मिला सरकारी भवन
मिली जानकारी अनुसार जिस सरकारी भवन पर जश्न मनाया गया, वह परिहार को 2013 में विस चुनाव में जीतने के बाद अलॉट हुआ था। विधायक बनने के बाद परिहार ने शहर में एक सरकारी भवन की मांग की थी। इस भवन के जरिए उन्होंने क्षेत्र की जनता से सीधे जुड़ने की बात कही थी। एक प्रकार से यह विधायक का सहायता केंद्र है जहां जनता अपनी शिकायतें और मांग लेकर आ सकती थी। विधायक ने इसे अपना निजी निवास बना लिया है। आचार संहिता लागू होने के बावजूद इसे खाली नहीं कराया गया। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com