Loading...

भोपाल में मौत के बुखार का कहर: 24 नए मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव | BHOPAL NEWS

भोपाल। ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (एम्स) से शनिवार को जीका बुखार के 50 संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें भोपाल के 24 मरीज हैं। जिनके सैंपल पिछले दिनों जांच के लिए भेजे गए थे। इससे भोपाल में जीका पॉजिटिव मरीजों की संख्या 5 से बढ़कर 29 हो गई है। जबकि प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 35 से बढ़कर 85 हो गया है। एम्स भोपाल से एक ही दिन में 50 मरीजों की रिपोर्ट जीका पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी किया है। वहीं दूसरी ओर शनिवार को मुख्य सचिव बीपी सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को जीका की समीक्षा रोजाना करने के निर्देश दिए हैं।

भोपाल में जीका बुखार से 7 दिन में दूसरी मौत

स्वास्थ्य संचालनालय के अफसरों ने बताया कि प्रदेश के भोपाल, सीहोर और विदिशा से कुल 204 मरीजों के ब्लड जीका जांच के अब तक भेजे जा चुके हैं। इनमें से 85 सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अफसरों ने बताया कि भोपाल में गोविंदपुरा, चार इमली, अवधपुरी, कोलार और ईश्वर नगर सहित दूसरे क्षेत्रों से कुल 60 मरीजों में जीका बुखार के लक्षण मिले थे। जिनमें से 29 पॉजिटिव निकले हैं। इसमें 5 गर्भवती महिलाएं शामिल हैं।

मरीजों को रखा गया सर्विलांस पर 

सभी मरीजों को सर्विलांस पर रखा गया है। उनकी सेहत में हो रहे बदलावों के अपडेट जानने के लिए एक निश्चित अंतराल पर सोनोग्राफी कराई गई हैं। ताकि जीका वायरस से उनके गर्भस्थ शिशु के ब्रेन के डेवलपमेंट को पता किया जा सके। सागर जिले में भी जीका वायरस का एक पॉजीटिव मरीज सामने आने के बाद हेल्थ डायरेक्टर डॉ बीएन चौहान शनिवार को सागर पहुंचे। वहां पर माइक्रो प्लान बनाकर 58 टीमों द्वारा द्वारा का छिड़काव कराने के निर्देश दिए हैं।

क्या है जीका वायरस, क्यों खतरनाक है

जीका वायरस के लिए कोई वैक्सीन नहीं है। यह बीमारी मच्छरों के जरिए फैलती है। मच्छरों से बचाव ही इसका बेहतर इलाज है। इससे बचने के लिए आप रूम में रुका हुआ पानी और कचरा न रखें। घरों के आस-पास पानी के कंटेनर न होंऔर सुनिश्चित करें कि दरवाजा और खिड़की स्क्रीन ठीक हो।

इसके साथ ही जहां भी पानी का स्टोरेज करते हों उसे टाइट बंद करें ताकि वह खुला न रहे। जो ढक्कन बिना कंटेनर के हों उस पर तार की जाली लगा दें। वहीं जो पानी पीने योग्य न हो उसे स्टोर करने के लिए उपयोग में लाए जाने वाले पानी के बड़े कंटेनर में लार्वासाइड्स का इस्तेमाल करें।

अंधेरे आर्द्र क्षेत्रों में एक आउटडोर फ्लाइंग इन्सेक्ट स्प्रे का उपयोग करें जहां मच्छर रहते हैं, जैसे आंगन में मौजूद फर्नीचर, या कारपोर्ट या गैराज में. कीटनाशकों का उपयोग करते समय, हमेशा लेबल निर्देशों का पालन करें। यदि आपके पास सेप्टिक टैंक है, तो उसमें आई दरारें की मरम्मत कराएं। खुले वेंट या पाइप के लिए मच्छर की साइज से छोटे तारों की जाली का इस्तेमाल करें।

घर को मच्छरों से मुक्त करने के लिए कपूर, लेमोन्ग्रास, सिन्ट्रोनेला समेत अन्य तेलों का इस्तेमाल करें। अपने घर को मच्छरों से मु्क्त करने के लिए मच्छरदानी, स्प्रे का इस्तमाल करेंगे। इसके साथ ही घर पर कपड़े खुले में न रखें। उन्हें अलमारी में कवर कर के रखें।

अगर आपको जीका के लक्षण नजर आते हैं तो यह तरीके अपनाएं

खूब आराम करें।
डिहाइड्रेशन से बचने के लिए तरल पदार्थ पीयें।
बुखार और दर्द को कम करने के लिए दवा लें।
यदि आप किसी अन्य चिकित्सा के लिए दवा ले रहे हैं, तो अतिरिक्त दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।