यदि आप मकान मालिक हैं तो आपकी पेंशन पक्की: REVERSE MORTGAGE SCHEME

05 October 2018

कोई भी व्यक्ति 60 वर्ष की उम्र तक पूरी क्षमता के साथ काम करता है परंतु इसके बाद ना तो उसका शरीर साथ देता है और वो मानसिक रूप से टूट भी जाता है। वो आराम करना चाहता है परंतु यदि आप सरकारी कर्मचारी नहीं हैं तो यह आपके लिए मुश्किल भरा होगा, क्योंकि आपको पेंशन नहीं मिलेगी। परंतु अब इसका भी समाधान आ गया है। भारतीय स्‍टेट बैंक (SBI) और पंजाब नेशनल बैंक (PNB) सहित कई बैकों ने एक ऐसी स्कीम लांच की है जिसके चलते आप यदि मकान मालिक हैं तो आपकी पेंशन पक्की। आपका घर आपका रहेगा, आपको उसका किराया भी मिलता रहेगा और इसी घर के आधार पर आपको 15 साल तक पेंशन भी मिलेगी। 

जानें BANK रिवर्स मोर्गेज स्‍कीम स्कीम क्या है

बैंकों की रिवर्स मोर्गेज स्‍कीम 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्‍यक्तियों को नियमित इनकम का विकल्‍प देती है। इसके लिए उनके पास अपना घर होना चाहिए। इस स्‍कीम के तहत बैंक घर के ओनर को रेजीडेंशियल प्रॉपर्टी के अगेंस्‍ट हर माह एक तय रकम एक तय समय तक देता है। इसके बदले में रेजीडेंसियल प्रॉपर्टी बैंक के पास गिरवी रहती है। 

रिवर्स मोर्गेज स्‍कीम की PENSION किसको मिलेगी

इस स्‍कीम के तहत मालिक को बैंक को यह पैसा वापस नहीं करना होता है। बैंक रेजीडेंसियल प्रॉपर्टी गिरवी रखने पर हर माह कितना पैसा देगा, यह प्रॉपर्टी की कीमत पर निर्भर करता है। इसके अलावा मालिक अपने घर में रह सकता है। रिवर्स मोर्गेज स्‍कीम के तहत अपना घर गिरवी रखने वाले व्‍यक्ति की मृत्‍यु के बाद घर बैंक का हो जाता है। अगर उस व्‍यक्ति के परिवार वाले चाहें तो बैंक को घर की कीमत चुका कर घर खरीद सकते हैं। 

कौन उठा सकता है रिवर्स मोर्गेज स्‍कीम का फायदा

कोई भारतीय जिसकी उम्र 60 वर्ष है इस स्कीम के के तहत अपना घर गिरवी रखने के लिए आवेदन कर सकता है। अगर पति और पत्नी मिल कर स्कीम के तहत आवेदन कर रहे हैं तो पत्नी की उम्र कम से कम 58 साल होनी चाहिए। इस स्कीम के तहत बैंक 10 से 15 साल के लिए आवेदक को हर माह एक तय रकम देता है। एबीआई इस स्कीम के तहत 3 लाख रुपए से 1 करोड़ रुपए तक का लोन देता है। महिलाओं ओर अन्य लोगों को एसबीआई इस स्कीम के तहत 11 फीसदी ब्याज दर पर लोन देता है। वहीं एसबीआई पेंशनर्स को सालाना 10 फीसदी ब्याज दर पर यह लोन मिलता है। 

रिवर्स मोर्गेज स्‍कीम किसके लिए फायदेमंद

अगर किसी के पास रिटायरमेंट के बाद अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए इनकम का कोई स्रोत नही है और उसके पास अपना घर है तो उस व्यक्ति के लिए यह स्कीम काम की हो सकती है। वह व्यक्ति इस स्कीम के तहत अपना घर गिरवी रख कर बैंक से हर माह एक तय रकम ले सकता है और रिटायरमेंट के बाद आराम की जिंदगी जी सकता है। उस व्यक्ति को अपनी न्यूनतम जरूरतें पूरी करने के लिए मुश्किलों का सामना नहीं करना होगा। 

भारत में सिर्फ 7 फीसदी युवाओं के पास है पेंशन कवर

एक अनुमान के मुताबिक मौजूदा समय में देश में सिर्फ 7 फीसदी युवाओं के पास पेंशन का कवर है। यानी उनको रिटायरमेंट के बाद पेंशन मिलेगी। बाकी 93 फीसदी युवाओं के पास पेंशन की सुविधा नहीं होगी। ऐसे में जब तक देश में सभी लोगों के लिए पेंशन की व्यवस्था नहीं होती है रिवर्स मोर्गेज स्कीम लोगों को रिटायरमेंट के बाद गरिमापूर्ण जीवन जीने का विकल्प देती है। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->