बेडरूम मेें सो रहे दंपत्ति की नृशंस रहस्यमयी हत्या, दरवाजे पर अंदर से लगा था ताला | MP NEWS

24 October 2018

शाहिद कुरैशी/दतिया/ भाण्डेर। नगर में बोहरान मोहल्ले में सोमवार-मंगलवार की रात हुई एक दंपत्ति की नृशंस हत्या ने नगर में सनसनी फैला दी। इस दोहरे हत्याकांड की खबर लोगों को मंगलवार की रात लगभग साढ़े नौ बजे लगी जब मृतक का एक परिजन ऊपर से चढ़ कर घर में दाखिल हुआ। चौंकाने वाली बात यह है कि दंपत्ति का किसी से कोई विवाद नहीं था। ना ही पड़ौसियों ने किसी को आते जाते देखा। दोनों के शव अर्धनग्न अवस्था में थे। 

मृतक दंपत्ति याकूब पुत्र अनवर बेग (38) तथा सलमा पत्नी याकूब बेग (32) की शादी को एक दशक से अधिक हो गया परन्तु अब तक कोई संतान नहीं हुई। मृतक याकूब अपने माता-पिता की इकलौती संतान था। इसके माता-पिता का भी निधन हो चुका है। मृतक दम्पति में याकूब पुरानी सब्जी मंडी स्थित अपनी दुकान पर कैंची आदि में धार लगाने का काम करता था जबकि उसकी पत्नी बिजली विभाग में अस्थाई रूप से लिपिक के पद पर कार्यरत थी तथा नेत्र संबंधी समस्या के चलते पिछले कुछ महीने पहले इससे रिजाइन दे दिया था और गृहिणी के तौर पर अपना जीवन व्यतीत कर रही थी।

सोमवार रात तक रहे लोगों के संपर्क में मृतक दंपत्ति

घटना की जानकारी लोगों को मंगलवार की रात साढ़े नौ बजे हुई जब मृतक दंपत्ति का एक परिजन बगल के घर से चढ़ कर इनके घर में उतरा। जानकारी के अनुसार मृतक सोमवार रात 10 से 11 बजे के बीच तक पड़ोस में लोगों के बीच रहे। इसके बाद अगले दिन शाम तक इनके घर से किसी प्रकार की आहट नहीं सुनाई दी और न ही कोई घर से कोई बाहर निकला।

अंदर से मुख्य दरवाजे पर लगा था भीतर से ताला

शाम को एक महिला जो प्रतिदिन इनके यहां दूध पहुंचाने का काम करती थी, दूध लेकर आयी। उसने दरवाजे पर आवाजें दीं लेकिन अंदर से कोई प्रतिक्रिया न होने पर उसने लोगों से कहा । चूंकि दिन भर दरवाजा बंद रहा। लिहाजा किसी अनहोनी की आशंका के चलते लोगों ने अब स्थिति जानने का प्रयास किया। इसी प्रयास के चलते दो लड़के बगल के घर से इस घर में उतरे। इसके बाद उन्होंने जो देखा उससे वे इतने भयभीत हो गए कि वे तेजी से उल्टे पैर तेजी से बाहर के लिए भागे  लेकिन बाहर निकलने वाले मुख्य दरवाजे पर ताला लगा था। दरवाजा चूंकि टीन का था सो तेज झटकों से उखड़ सा गया। 

सोते में लकड़ी से प्रहार कर उतारा मौत के घाट

घटना की जानकारी लगते ही लोगों का जमघट लगने लगा। पुलिस के पहुंचने से पूर्व लोगों ने देखा कि जिस कमरे में यह वारदात हुई उसमें दरवाजा खुला था। दोनों मृतक पलंग पर मृत अवस्था में पड़े हुए थे तथा इनका मुँह कुचली अवस्था में था। पलंग के पास एक मोटी लकड़ी टिकी हुई थी। सिरहाने की तरफ दीवार पर खून के छींटे तथा गद्दे-तकिए पर खून के गहरे निशान दिख रहे थे। उनके ऊपर जिस प्रकार से चादर पाया गया उससे ऐसा प्रतीत होता है कि मारने वाले ने उन्हें जरा भी संभलने का मौका नहीं दिया। 

वार्ड पार्षद फलाहउद्दीन सिद्दीकी की सूचना पर पुलिस ठीक 10 बजे घटना स्थल पर पहुंच चुकी थी। घटनास्थल पर पहुंचने वालों में टीआई, एसडीओपी के अलावा एसपी भी शामिल थे। इनके अलावा स्निफर डॉग को भी बुलवाया गया। स्निफर डॉग घटनास्थल के दक्षिण में सूंघता हुआ गया  लेकिन वह भी किसी ठोस साक्ष्य पुलिस को उपलब्ध कराने में असमर्थ रहा। 

इनका कहना है
दोनों ही बेहद नेक और शरीफ लोग थे। उनका अभी तक किसी प्रकार का किसी से कोई विवाद भी सुनने में नहीं आया। फिर ऐसा कौन था जिसने इन्हें मारा । घर में भी कोई ऐसा नहीं था कि किसी से जायदाद को लेकर इनका झगड़ा होता हो। 
मुन्ना बेग 
मृतक याकूब के चचेरा भाई

जैसी रिपोर्ट इस दंपत्ति के विषय में सुनने को मिली उससे और यह केस टिपिकल हो गया है। हालांकि पुलिस अपना काम करते हुए इस केस को जल्दी-से जल्दी हल करने का प्रयास करेगी। लोगों से भी इस मामले में सहयोग करने की अपील की है। 
राजीव चतुर्वेदी
एसडीओपी भाण्डेर
-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week