कलेक्ट्रेट के सभा कक्ष में भाजपा का प्रचार, अधिकारी ने नकारा | MP NEWS

20 October 2018

छतरपुर। कलेक्ट्रट के सभा कक्ष में भाजपा के प्रचार का बड़ा मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि महिला बाल विकास अधिकारी ने छुट्टी के दिन अपने विभाग के सभी सुपरवाइजर्स को मीटिंग के नाम पर बुलाया और पीएम मोदी व शिवराज सिंह चौहान के फोटो वाले पर्चे बांटे। आरोपी अधिकारी का कहना है कि यह उनके खिलाफ अफवाह उड़ाई गई है। उन्होंने ऐसा कतई नहीं किया। 

क्या है आरोप
बताया जा रहा है कि महिला बाल विकास अधिकारी ने छुट्टी के दिन सुपरवाइजरों की मीटिंग आयोजित की। इस बैठक में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का घर-घर जाकर प्रचार करने के निर्देश दिए गए। कर्मचारियों को पर्चे एवं फोल्डर्स भी दिए गए जिसमें पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम शिवराज सिंह के फोटो एवं प्रचार सामग्री थी। कांग्रेस का कहना है कि वो इसकी शिकायत चुनाव आयोग से करेंगे। 

अधिकारी ने नकारा, जांच जरूरी
महिला बाल विकास अधिकारी ने मामले को सिरे से नकारते हुए कहा की मीडिया को गलत जानकारी है कोई भी पैम्फलेट नहीं बांटी गए है लेकिन इस मामले की जांच जरूरी है। कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग इस घटना को प्रमाणित करेगी कि मीटिंग में क्या हुआ था। 

कलेक्टर ने लिया शिवराज को जिताने का संकल्प ?

बता दें कि छतरपुर कलेक्टर रमेश भंडारी ने 13 जून 2018 को मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना के कार्यक्रम के दौरान मप्र मेंं फिर से भाजपा की सरकार बनाने का संकल्प लिया था। यह आरोप कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने लगाया है। उन्होंने इस अवसर का फोटो भी साझा किया था। इधर कलेक्टर रमेश भंडारी ने भोपाल समाचार को बताया था कि हमने ऐसा कोई संकल्प नहीं लिया। हम तो भारत माता की जय का नारा लगा रहे थे। लेकिन एक छोटा सा सवाल अब भी शेष है कि 'भारत माता की जय' के लिए दोनों हाथ खड़े करके नारा कौन लगाता है। फोटो में कलेक्टर दोनों हाथ उठाते हुए दिखाई दे रहे थे। (पूरी खबर यहां पढ़ें)

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week