LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




मप्र के सभी बहु उद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की सेवाएं बहाल | mp employee news

13 October 2018

भोपाल। प्रदेश के सभी जिलों के बहु उद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (एमपीडब्ल्यू) ने माननीय उच्च न्यायालय में 28 याचिकाएं प्रस्तुत की थी। माननीय उच्च न्यायालय के द्वारा सेवा में बहाली के आदेश दिए थे जो की याचिकर्ताओ ने, सचिव सीएमओ, संचालक एवं अन्य उच्च अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुत कर सेवा में बहाली का निवेदन किया। याचिकर्ताओं अभय बडकुल, राजेंद्र, रोहित, राघव, रविन्द्र , कुलदीप, नागेश, आशीष, प्रदीप,  राहुल, मनोज, राजेश, चन्द्रगोपाल, सुभाष, पप्पू चौहान, राजेश कुमार ने भी एक याचिका माननीय उच्च न्यायालय में प्रस्तुत कर सेवा समाप्ती आदेश को चुनौती दी थी जिसे माननीय उच्च न्यायालय ने अपने आदेश दिनांक 30 /06/2018 के द्वारा यथास्थिति रखने तथा याचिकर्ताओं को सेवाएँ निरन्तर रखने का आदेश दिया था।

याचिकर्ताओं के द्वारा प्रस्तुत माननीय उच्च न्यायालय के आदेश को म.प्र. शासन स्वास्थ्य विभाग ने अनसुना कर दिया इसीलिए याचिकर्ताओ ने कवीन्द्र कियावत सचिव केंद्र सरकार स्वास्थ विभाग श्रीमति गौरीसिंह सचिव म.प्र. शासन, स्वास्थ विभाग, डॉ. बी.एन. चौहान संचालक स्वास्थ विभाग तथा राजकुमार धुर्वे मुख्य स्वास्थ अधिकारी को पक्षकार बनाकर अवमानना याचिका प्रस्तुत की थी। माननीय उच्च न्यायालय ने अपने आदेश दिनांक 12/09/2018 के द्वारा आदेश जारी कर अनावेदक गणों को दो सप्ताह में अपने आदेश का पालन करने के आदेश दिए परंतु फिर भी अवामाननाकर्ताओं के द्वारा माननीय उच्च न्यायालय के आदेश का पालन नहीं किया।

दिनांक 27/09/2018 को प्रकरण पुनः सुनवाई में माननीय उच्च न्यायालय की बेंच की न्याधिपति श्रीमति नंदिता दुबे के समक्ष सुनवाई में नियत हुआ। याचिकाकर्ताओं की ओर से उनके अधिवक्ता श्री नरेन्द्र कुमार शर्मा ने माननीय उच्च न्यायालय से निवेदन किया की अवामाननाकर्ताओं कवीन्द्र कियावत सचिव केंद्र सरकार स्वास्थ विभाग श्रीमति गौरीसिंह सचिव म.प्र. शासन स्वास्थ्य विभाग, डॉ.बी.एन. चौहान संचालक स्वास्थ विभाग तथा राजकुमार धुर्वे मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी को न्यायालय की अवमानना किये जाने के लिए जेल भेज दिया जाना चाहिए। विद्वान् अधिवक्ता श्री नरेन्द्र कुमार शर्मा के तर्कों से सहमत होते हुए माननीय उच्च न्यायालय ने अवामाननाकर्ताओं को निर्देश दिया थ्क् वे 12 अक्टूबर 2018 तक आदेश का पालन करें वरना जेल जाने के लिए न्यायालय में उपस्थित रहे। जेल जाने के डर से अवामाननाकर्ता गण कवीन्द्र कियावत सचिव केंद्र सरकार स्वास्थ विभाग, श्रीमति गौरीसिंह सचिव म.प्र. शासन स्वास्थ्य विभाग, डॉ.बी.एन. चौहान संचालक स्वास्थ विभाग के द्वारा सभी जिलों के बहु उद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (एमपीडब्ल्यू) को सेवा में बहाल कर दिया है। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->