Loading...

करवाचौथ पर महिलाओं को जरूर करना चाहिए इन 7 नियमों का पालन...

शनिवार यानि 27 अक्टूबर को देशभर में करवाचौथ का पवित्र त्योहार मनाया जाएगा। यह सुहागिन महिलाओं के लिए एक बड़ा पर्व है। इस दिन पत्नियां अपने सुहाग की लंबी उम्र की कामना करते हुए दिनभर निर्जला व्रत रखती हैं। वहीं इसी दिन संकटी गणेश चतुर्थी होने से ये पर्व और भी शुभ हो गया है। लेकिन इस शुभ पर्व पर आपसे भूलकर भी कुछ अशुभ न हो, इस बात का ख्याल महिलाओं को रखना है। हर व्रत की तरह करवाचौथ के भी कुछ नियम होते हैं, जिनका पालन हर सुहागिन महिला को करना चाहिए। अगर नहीं किया, तो हो सकता है कि आपको कोई बुरा फल मिले। ये व्रत सुहाग से जुड़ा है, लिहाजा इससे जुड़ी चूकों पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। तो आइए जानते हैं कि शास्त्रों के अनुसार इस दिन महिलाओं को क्या नहीं करना चाहिए और किन-किन नियमों का पालन करना चाहिए। 

# इस दिन महिलाएं काले कपड़े भूलकर भी ना पहनें। एकदम सफेद साड़ी भी नहीं पहननी चाहिए। इस मौके पर काला रंग महिलाओं के लिए अशुभ होता है। वहीं सफेद साड़ी पहनना भी अच्छा नहीं माना जाता। 
# इस दिन महिलाओं को कैंची का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। महिलाएं कपड़े काटने में कैंची का इस्तेमाल करती हैं, लेकिन कोशिश करें कि इस दिन कैंची का उपयोग न हो। बल्कि उसे कहीं छुपा दें तो ही अच्छा है। 

# महिलाएं इस दिन सिलाई-कढ़ाई न करें। व्रत के दौरान टाइम पास करने के लिए अक्सर महिलाएं ऐसा करती हैं, लेकिन आज के दिन इन सभी कामों पर प्रतिबंध लगा दीजिए। बेहतर है कि टाइम पास करने के लिए आप म्यूजिक या भजन सुन सकते हैं। 
# किसी की बुराई भूलकर भी ना करें। इस दिन किसी की चुगली या बुराई करने से व्रत का शुभ फल नहीं मिलता। 

#  दूध, दही, चावल और उजला वस्त्र भूलकर भी दान न करें। 
# बड़ों का निरादर करने से बचें। आपकी ये छोटी सी भूल आपको बुरा फल दे सकती है। 
# इस दिन पति के अलावा भूलकर भी किसी और का चिंतन किसी भी स्थिति में न करें।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com