नेशनल हेराल्ड: शिवराज सरकार ने जांच नहीं कराई, पात्रा मुद्दा उछाल रहे हैं | BHOPAL MP NEWS

Advertisement

नेशनल हेराल्ड: शिवराज सरकार ने जांच नहीं कराई, पात्रा मुद्दा उछाल रहे हैं | BHOPAL MP NEWS

भोपाल। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने भोपाल में एक ऐसे घिसेपिटे मामले को उठाया जिस पर भोपाल में कई बार बात हो चुकी है। शिवराज सिंह सरकार पर आरोप है कि उसने इस मामले में लचर रवैया अपनाया। पात्रा ने भोपाल में स्थित नेशनल हेराल्ड की बिल्डिंग का मामला उठाया। यह पहले भी कई बार उठाया जा चुका है। यह जमीन नेशनल हेराल्ड अखबार को मशीन एवं आॅफिस खोलने के लिए दी गई थी लेकिन अब यहां कमर्शियल कॉम्पलेक्स है। यह एक ऐसा मामला है जिसमें गांधी परिवार तो आरोपी है ही, मप्र की भाजपा सरकार भी कम जिम्मेदार नहीं है। 

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने यहां हाईप्रोफाइल ड्रामा किया। उन्होंने एमपी नगर भोपाल स्थित नेशनल हेराल्ड की बिल्डिंग के सामने प्रेस कांफ्रेंस की। संबित पात्रा ने कहा, 'गांधी परिवार ने मध्य प्रदेश को लूटा है। मेरे पीछे नेशनल हेराल्ड की इमारत है जो कि भ्रष्टाचार का एक स्मारक है। नेशनल हेराल्ड केस में सोनिया गांधी और राहुल गांधी दोनों ही 50,000 के मुचलके पर बाहर घूम रहें है. यह दोनों ही जेल से कुछ कदम दूर हैं। 

1 उंगली गांधी की तरफ 4 शिवराज सिंह की तरफ हैं
भोपाल के एमपी नगर स्थित प्रेस काम्पलेक्स में कई अखबारों को मशीन लगाने एवं आॅफिस खोलने के लिए सरकार ने जमीन आवंटित की थी परंतु आधे से ज्यादा जमीनों पर अब या तो कमर्शियल काम्पलेक्स खुल गए हैं या फिर वो दूसरे अखबारों को किराए पर दे दी गईं हैं। नेशनल हेराल्ड भी इन्हीं में से एक है। 2003 में जब मप्र में भाजपा की सरकार बनी तो उम्मीद की गई थी कि वो इस मामले में कदम उठाएगी और सभी की लीज रद्द करके जमीन उन अखबारों को दी जाएंगी जो इसके हकदार हैं परंतु शिवराज सिंह सरकार ने ऐसा नहीं किया। इस मामले में नेशनल हेराल्ड सिर्फ एक प्लॉट हैं। पूरे प्रेस काम्पलेक्स में ऐसे 50 से ज्यादा प्लॉट हैं जिन्हे सरकार ने खाली नहीं कराया। यह ऐसा मामला है जिसमें 1 उंगली गांधी परिवार की तरफ और 4 शिवराज सिंह सरकार की तरफ उठतीं हैं। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com