मप्र चुनाव: 10 बड़ी खबरें | MP ELECTION TOP 10 NEWS

09 October 2018

सपा ने 2 प्रत्याशियों के नाम घोषित किए | मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए समाजवादी पार्टी ने अपनी दूसरी सूची जारी कर दी है। इसमें दो उम्मीदवारों के नाम तय किए गए हैं। खजुराहो में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इन दो उम्मीदवार के नामों का ऐलान किया। वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष गौरी यादव सिलवानी से और पूर्व सपा प्रदेश अध्यक्ष अशोक यादव ग्वालियर ग्रामीण सीट से चुनाव लड़ेंगे।

सभी जनप्रतिनिधियों को सरकारी वाहन वापस करने होंगे
भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा के लिए चुनाव आचार संहिता लागू हुई है परंतु यह नगरीय निकायों एवं जिला पंचायतों पर भी प्रभावी होगी। मध्यप्रदेश में सभी प्रकार के जनप्रतिनिधि जिन्हे सरकारी वाहन प्राप्त हैं, उन्हे वाहन लौटाने होंगे। यह आदेश चुनाव आयोग ने दिए हैं।

नेताओं ने प्रत्याशी की अनुमति के बिना बैनर लगाया तो FIR
रतलाम। कोई भी व्यक्ति बिना प्रत्याशी को सूचना दिए अपने घर पर पोस्टर, बैनर नहीं लगा सकेगा। यदि कोई भी व्यक्ति या पार्टी कार्यकर्ता ऐसा करता है तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जा सकती है। कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी रुचिका चौहान ने बताया कि सभी प्रकार के बैनर पोस्टर्स प्रचार माने जाएंगे और उनका खर्चा प्रत्याशी के खर्चे में जोड़ा जाएगा।

कांग्रेस को वोट देने की अपील करने वाला कर्मचारी बर्खास्त
जशपुर। कांग्रेस को वोट देने की अपील करने वाला रोजगार सहायक अजीत गुप्ता बर्खास्त, जनपद पंचायत के ग्रुप में की थी कांग्रेस को वोट देने की अपील। जनपद सीईओ विनोद सिंह ने की कार्रवाई। बगीचा जनपद पंचायत के झिंकी में पदस्थ था रोजगार सहायक।

रतलाम में भाजपा नेताओं की पिटाई
रतलाम। भारतीय युवा मोर्चा सूरजमल जैन मंडल अध्यक्ष सौरभ शर्मा के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। दबंगों ने भाजपा के लिए काम न करने की धमकी दी है। विरोध करने पर 
भाजयुमो सूरजमल जैन मंडल अध्यक्ष, उनके साथियों को पीटा, मारपीट में भाजयुमो पदधिकारी सौरभ सहित उसके 2 और साथी घायल हुए हैं।

अखिलेश से खुलेआम मिलूंगा, किसी का डर नहीं है: अरुण यादव
नाराज कांग्रेसियों को अखिलेश यादव के ऑफर पर पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव बोले सपा से गठबंधन क्यों नही हुआ, ये कमलनाथ बताएँगे। अखिलेश मेरे 40 साल के मित्र है, अखिलेश से सीक्रेट मीटिंग नही करूँगा, मिलना होगा खुले में मिलूंगा, किसी का डर नही।

गुना में आचार संहिता का उल्लंघन, अधिकारियों से भिड़े भाजपा नेता
गुना। सिंधिया के गढ़ गुना में अमित शाह का रोड शो चल रहा था। इस दौरान पोस्टर बैनर को हटाने को लेकर चुनाव आचार संहिता का हवाला देते हुए डिप्टी कलेक्टर विशाखा देशमुख ने आपत्ति जताई। इस पर प्रदेश महामंत्री बीडी शर्मा और राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन से बहस हो गई। इसके बाद उन्हें फोन पर भी किसी को धमकाते हुए देखा गया।

सिरोंज में सक्रिय हुए व्यापमं वाले पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा
विदिशा। मंगलवार को सिरोंज में व्यापमं घोटाले में मंत्री पद गंवाकर जेल गए लक्ष्मीकांत शर्मा ने हजारों कार्यकर्ताओं के साथ बीजेपी के जनसंपर्क अभियान में हिस्सा लिया। इससे पहले भी कई मौके पर शर्मा बीजेपी के मंच पर दिखाई दिए हैं, हाल ही में उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात भी की थी। चुनावी समय होने के चलते उनकी सक्रियता चर्चा का विषय बन गयी है। इसे चुनाव लड़ने की अटकलों से जोड़कर देखा जा रहा है लेकिन बीजेपी ने उनके संबंध में कोई भी टिप्पणी फिलहाल नहीं की है। कुछ महीने पहले पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने भी उनकी घर वापसी के संकेत दिए थे। उन्होंने दवा किया था कि लक्ष्मीकांत और राघवजी, दोनों ही जिताऊ उम्मीदवार हैं और पार्टी को उन्हें वापस लेना पड़ेगा।

क्या अधिकारियों को चुनाव के बाद रहना नहीं है: भाजपा महामंत्री 
भोपाल। बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अनिल जैन का सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमे वो फ़ोन पर प्रशासन की शिकायत करते हुए अफसरों को कोस रहे हैं और गलियां दे रहे हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के चंबल दौरे को लेकर तैयारियों में जुटी बीजेपी के नेताओं को प्रशासन की सख्ती से परेशानी थे। संपत्ति विरूपण मामले में कार्यवाही के दौरान बीजेपी नेता की नाराजगी सामने आई। इस दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. अनिल जैन ने मंत्री को फ़ोन लगाकर अफसरों को शिकायत की और उन्हें जमकर कोसा। इतना ही नहीं वायरल वीडियो में जैन प्रशासन को गालियां भी देते देते हुए कह रहे हैं कि क्या इन्हें चुनाव के बाद नहीं रहना है क्या।

निगम अध्यक्ष अशोक पोरवाल के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की FIR
रतलाम। अनुविभागीय दंडाधिकारी के रीडर प्रकाश पलासिया द्वारा एफआईआर दर्ज करवाई गई है। उन्होंने एसडीएम के हस्ताक्षर का प्रतिवेदन पेश कर रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोप है कि दिनांक 6 अक्टूबर को आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद निगम अध्यक्ष अशोक पोरवाल को आवंटित वाहन एमपी 43 सीएच 2970 जमा कराने के लिए कहा गया था। इसके लिए उनसे मोबाईल फोन द्वारा संपर्क भी किया गया था लेकिन सूचना मिलने के बाद भी वाहन जमा जमा नही किया गया। प्रभारी अधिकारी कर्मशाला नगर निगम रतलाम के प्रतिवेदन के अवलोकर उपरांत आचार संहिता का उल्लघंन करना पाया गया। जिला दंडाधिकारी रतलाम ने धारा 144 सीआरपीसी के आदेश के अनुसार निगम अध्यक्ष के खिलाफ थाने में आईपीसी की धारा 188 में प्रकरण दर्ज करवाया है। वहीं जल्द ही प्रशासन उनकी सरकारी कार को जब्त करेगा।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week