कांग्रेस ने वोट के लिए हजारों महिलाओं से फर्जी योजना के फार्म भरवाए: आरोप, पुलिस जांच शुरू | MP NEWS

07 September 2018

ग्वालियर। एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। महिला एवं बाल विकास अधिकारी राजीव सिंह ने एसपी को पत्र भेजकर बताया था कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने महिलाओं से फर्जी महिला सुरक्षा सम्मान योजना के नाम पर फार्म भरवाएं हैं। जब जांच की शुरूआत हुई तो इसमें कांग्रेस के प्रदेश सचिव सुनील शर्मा का नाम सामने आया है। आरोप है कि कांग्रेस नेता ने महिलाओं से यह कहकर फार्म भरवाए कि विधानसभा चुनाव में वोट देने के तीसरे दिन सबको 2500-2500 रुपए मिलेंगे। अब महिलाएं भी हंगामा कर रहीं हैं। बता दें कि सुनील शर्मा विधानसभा सीट ग्वालियर 15 से चुनाव की तैयारियां कर रहे हैं। ये सभी फार्म उनकी ही विधानसभा में भरवाए गए हैं। 

लोकल मीडिया से आ रहीं खबरों के अनुसार इन कांग्रेस नेताओं ने ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र के वार्डों में टेंट लगाकर हजारों महिलाओं के यह फर्जी आवेदन जमा कराए हैं। महिलाओं को आवेदन भरवाते वक्त भरोसा दिया गया कि विधानसभा चुनाव में वोटिंग होने के तीसरे दिन सभी को 2500-2500 रुपए दिलाए जाएंगे। इस भरोसे के साथ महिलाओं से पता, मोबाइल नंबर व घर के सदस्यों की जानकारी जुटाई गई है। ताकि, चुनाव में वोटिंग से पहले सभी को फोन कर अपने पक्ष में मतदान के लिए कहा जा सके लेकिन, यह आवेदन और स्टांप का फर्जीवाड़ा प्रशासनिक अधिकारियों की नजर में आ गया। महिला एवं बाल विकास अधिकारी राजीव सिंह ने एसपी को पत्र भेजकर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज कराने की बात कही है। 

प्राथमिक जांच के बाद अधिकारी का कहना है कि यदि जांच में इसके सबूत मिल जाते हैं तो कांग्रेस नेताओं के खिलाफ महिलाओं को गुमराह करने एवं धोखाधड़ी का केस दर्ज कराएंगे। सूत्रों का दावा है कि कई सारे सबूत अधिकारियों के पास रिकॉर्ड के तौर पर पहुंच गए हैं। भीकम नगर में रहने वाली वसुंधरा नरवरिया, चौड़े के हनुमान नगर में रहने वाली कलावती शिवहरे व शारदा राठौर ने बताया कि यह आवेदन 2500-2500 रुपए मिलने का लालच देकर कांग्रेस नेताओं ने भरवाए हैं। 

स्टांप वेंडरों के लाइसेंस होंगे निरस्त 
पूछताछ करने पर कुछ महिलाओं ने बताया कि यह फॉर्म कलेक्टोरेट परिसर के स्टांप वेंडर से खरीदे हैं। जबकि स्टंप वेंडर ने किसी अज्ञात व्यक्ति से फॉर्म खरीदने की बात कही। इस पर एडीएम संदीप केरकेट्टा ने इन स्टांप वेंडरों के लाइसेंस निरस्त करने के निर्देश दिए हैं। यह भी कहा है कि फर्जी काम करने वाले दोषियों पर पुलिस कार्रवाई की जाए। 

ये योजना के फार्म नहीं मांग पत्र हैं
कांग्रेस के जिलाध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा ने भोपाल समाचार डॉट कॉम को बताया कि इस मामले भ्रम फैलाया जा रहा है। वो किसी योजना के फार्म नहीं बल्कि 'महिला सम्मान सुरक्षा निधि' के मांग पत्र हैं। यह कांग्रेस का नहीं लेकिन कांग्रेस नेता सुनील शर्मा का अभियान है जो वो अपने क्षेत्र में चला रहे हैं। वो सभी मांगपत्र इकट्ठा करके सीएम शिवराज सिंह को सौंपने वाले हैं। उन्होंने बताया कि फार्म पर साफ लिखा हुआ है 'मांग पत्र।'
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week