Loading...

बुजुर्ग किसान को बेवजह जेल भेजकर फंस गए कलेक्टर वर्मा

जबलपुर। मध्यप्रदेश में नरसिंहपुर जिले के कलेक्टर अभय वर्मा एक बुजुर्ग किसान प्रमोद पुरोहित को जेल भेजकर फंस गए हैं। सवाल उठे तो कलेक्टर ने दलील दी कि किसान शराब पीकर उत्पात मचा रहा था इसलिए उसे जेल भिजवाया गया। कलेक्टर की इस दलील पर भी सवाल उठ गए हैं। पूछा जा रहा था कि किसान ने शराब पी रखी थी तो मेडीकल क्यों नहीं कराया। इधर किसान ने दावा किया है कि वो किसी भी मेडीकल जांच के लिए तैयार है। उसने जीवन में कभी शराब नहीं पी। 

किसान ने ऊंची आवाज में बात की, इसलिए जेल भेज दिया
किसान प्रमोद पुरोहित उम्र 61 साल के बेटे जयदीप पुरोहित का आरोप है कि उनके पिता 21 अगस्त को जनसुनवाई में खराब सड़क की शिकायत करने पहुंचे थे। कलेक्टर ने जब ध्यान नहीं दिया तो किसान ने ऊंची आवाज में अपनी शिकायत रखी। बस इसी बात से नाराज होकर कलेक्टर अभय वर्मा ने उन्हे जेल भेज दिया। जेल से बाहर आते ही किसान प्रमोद पुरोहित ने भी ऐसा ही बयान दिया है। किसान का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ जिसमें उसने बताया कि उसने पिछले मंगलवार कलेक्टर को जनसुनवाई में अपने गांव खुरपा से चीलाचौन गांव की कच्ची सड़क बनाने की शिकायत कलेक्टर को की जिसके बाद कलेक्टर नाराज हो गए और पुलिस बुलाकर जेल भेज दिया। 

कलेक्टर का बेतुका बयान
कलेक्टर अभय वर्मा का कहना है कि फरियादी प्रमोद पुरोहित शराब पीकर उत्पात कर रहा था. इसलिए उसे जेल भिजवाया गया। कलेक्टर के इस बयान के बाद फरियादी प्रमोद पुरोहित ने फिर कलेक्टर पर निशाना साधा है। उनका कहना है कि मैंने शराब कभी नही पी, चाहे तो डीएनए टेस्ट करा लें। उन्होंने कलेक्टर पर कार्रवाई की मांग की है। बुजुर्ग किसान ने जनसुनवाई के सीसीटीवी फुटेज की जांच की भी मांग की है। इस मामले में बुजुर्ग किसान के बेटे जयदीप का कहना है कि इस मेरे पिताजी के साथ जो कुछ भी हुआ उससे दुखी हूं, उन्होंने भी कलेक्टर को हटाने की मांग की है। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com