Loading...

मैं दिल्ली नहीं जाऊँगा, मप्र को मेरी ज्यादा जरुरत है: कमलनाथ | MP ELECTION NEWS

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं छिंदवाड़ा सांसद कमलनाथ ने एक बार फिर दिल्ली जाने से इंकार कर दिया है। संसद में अविश्वास प्रस्ताव के समय भी वो उपस्थित नहीं थे। ऐसे समय में हर छोटी पार्टी के सांसद भी उपस्थित होते हैं। अब कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में भी जाने से इंकार कर दिया है। कमलनाथ ने कहा कि मैं दिल्ली नहीं जाऊँगा, मप्र को मेरी ज्यादा जरुरत है। यहां याद दिलाना होगा कि कमलनाथ मध्यप्रदेश में भी कुछ खास दौरे नहीं कर रहे हैं। उम्मीद थी कि वो अपनी नियुक्ति के बाद ताबड़तोड़ दौरे करेंगे ताकि मध्यप्रदेश की जनता कम से कम एक बार तो उनका चेहरा अपनी आखों से देख सके परंतु वो सीएम शिवराज सिंह की तुलना में 10 प्रतिशत जनता से भी नहीं मिल सके हैं। 

बता दें कि दिल्ली में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा कार्य समिति की बैठक बुलाई है। कांग्रेस के लिए यह काफी महत्वपूर्ण मीटिंग होती है और इस मीटिंग में 2019 के गठबंधन एवं मध्यप्रदेश सहित 4 राज्यों के चुनावों पर भी चर्चा हो सकती है। पिछली बार राहुल गांधी ने दिग्विजय सिंह को विशेष रूप से बुलाया था परंतु विठोबा का बहाना करके दिग्विजय सिंह ने मीटिंग में उपस्थित टाल दी थी। इस बार कमलनाथ ने टाल दी। बता दें कि दोनों को राहुल गांधी ने कार्य समिति की सदस्यता से बाहर कर दिया है। कमलनाथ ने कहा कि मैं दिल्ली नहीं जाऊँगा, मप्र मेरे लिए पहली प्राथमिकता है ।मप्र को मेरी ज्यादा जरुरत है और यहां रहना मेरे लिए बहुत जरुरी है।

गौरतलब है कि बीती 17 जुलाई को राहुल गांधी की अध्यक्षता वाली कांग्रेस की सीडब्ल्यूसी में बदलाव के बाद पहली बैठक 22 जुलाई को हुई थी। आगामी 4 अगस्त के लिए कई मुद्दों के बीच एनआरसी की महती भूमिका रहेगी। 2019 के चुनाव में विपक्ष की तरफ से समर्थन जुटाने के लिए भी एनआरसी का मुद्दा बेहद महत्वपूर्ण रह सकता है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com