BHOPAL: बाप 1 साल से कर रहा था रेप, मां कहती चुप रहो बदनामी होगी | MP NEWS

28 August 2018

भोपाल। यहां घरेलू हिंसा और यौन प्रताड़ना का मामला सामने आया है। एक महिला और उसकी बेटी घरेलू हिंसा का शिकार हुईं हैं। घर का मुखिया एवं 16 साल की लड़की का पिता, अपनी ही बेटी का रेप करता था। लड़की ने जब अपनी मां को बाप की करतूत बताई तो मां ने भी उसे चुप रहने की सलाह दी। बोली रिपोर्ट लिखाई तो बदनामी होगी। 

टीआई अर्जुन सिंह मुजालडे के अनुसार 16 वर्षीय किशोरी बुधवारा में रहती है। वह छठवीं कक्षा तक पढऩे के बाद पढ़ाई छोड़ चुकी है। अब वह घरेलू कामकाज संभालती है। उसने सोमवार शाम को थाने आकर बताया कि उसका पिता उसके साथ ज्यादती करता है। एक साल पूर्व में सबसे पहले उसके साथ ज्यादती की गई थी। तब उनका परिवार अमन कॉलोनी करोंद में रहता था। विरोध करने पर आरोपी पिता ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी। वारदात को देर रात अंजाम दिया गया था। उस समय मां भी घर में सोई हुई थी। बदनामी और मौत के खौफ से उसने कई दिनों तक मामले की जानकारी किसी को नहीं दी थी। बाद में उसका परिवार बुधवारा में शिफ्ट हो गया। यहां भी उसके साथ रेप किया गया। तब उसने मां को मामले की जानकारी दी। मां ने पिता के खौफ से उसे चुप रहने को कहा। एक बार मां ने जब पिता से इस संबंध में बहस की तो उसने उनके साथ मारपीट कर डाली और मां बेटी को जान से खत्म करने की धमकी देकर चुप करा दिया।

मां नहीं चाहती थी FIR
आरोपी पिता की आए दिन की करतूतों से तंग आकर सोमवार को बेटी साहस जुटाकर अकेले ही थाने में पहुंच गई। जहां उसने पूरा घटनाक्रम पुलिस को बताया। पुलिस ने उसका मेडीकल परीक्षण कराने के बाद प्रकरण दर्ज कर लिया। हालांकि इस बीच मां भी थाने आ चुकी थी। मां ने प्रकरण दर्ज करने से लड़की को मना कर दिया। इसके बाद भी पीडि़ता ने अपनी शिकायत वापस नहीं ली। कोतवाली पुलिस ने पीडि़ता को चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया है। वह मां-पिता के साथ नहीं रहना चाहती थी। वहीं कोतवाली पुलिस ने शून्य पर केस दर्ज कर लिया है। केस डायरी को निशातपुरा थाना भेजा जा रहा है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week