मप्र कांग्रेस: सिंधिया और कमलनाथ के बीच घमासान शुरू | MP ELECTION NEWS

16 July 2018

भोपाल। उधर भाजपा में सीएम शिवराज सिंह और कैलाश विजयवर्गीय आमने सामने आ गए हैं तो इधर कांग्रेस में कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया भी आमने सामने हैं। दोनों की तरफ से पोस्टरवार शुरू हुआ है। ये एक दूसरे पर हमले नहीं कर रहे लेकिन सीएम की कुर्सी पर अपनी दावेदारी जता रहे हैं। दोनों के बीच यह रेस अब तक केवल चर्चाओं और कांग्रेस की मीटिंगों तक ही थी परंतु अब पब्लिक डोमेन पर आ गई है। 

इसमें रोचक बात यह है कि मुख्‍यमंत्री पद के लिए कमलनाथ के समर्थन वाले पोस्‍टर में निवेदक के रूप में मध्‍यप्रदेश कांग्रेस युवा मित्र मंडल का नाम दिया गया है। इस पोस्‍टर में लिखा गया है, ''राहुल भैया का संदेश, कमलनाथ संभालो प्रदेश। बता दें कि कमलनाथ की युवा टीम में इंदौर के विधायक जीतू पटवारी आते हैं। जो मप्र कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं। मप्र की युवक कांग्रेस टीम भी जीतू पटवारी के आशीर्वाद से आगे बढ़ रही है। 

वहीं दूसरी तरफ ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के समर्थन वाले पोस्‍टर में निवेदक की जगह पर केवल श्रीमंत सिंधिया फैन क्‍लब लिखा हुआ है। याद दिला दें कि ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के प्रचार अभियान में अक्सर फैन क्लब का ही उल्लेख होता है। यह फैन क्लब तब से काम कर रहा है जब ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया राजनीति में नहीं आए थे। सूत्रों का दावा है कि फैन क्लब की हर गतिविधि ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया की अनुमति के बाद ही चलती है। 

कमलनाथ भी हो गए गुटबाज
यहां जिक्र करना जरूरी है कि कमलनाथ ने अपने प्रस्ताव में यह दावा किया था कि उनको मप्र कांग्रेस की कमान मिलने के बाद मप्र में कांग्रेस की गुटबाजी खत्म हो जाएगी परंतु ऐसा नहीं हुआ। शहडोल और नीमच से लेकर अब पोस्टर तक बार बार यह प्रमाणित हो रहा है कि कमलनाथ खुद मप्र के बड़े गुटबाज हो गए हैं और कमलनाथ गुट अब खुलकर सामने आ चुका है। इतना ही नहीं मप्र में कमलनाथ गुट का तेजी से विस्तार भी किया जा रहा है। यहां ज्योतिरादित्य सिंधिया की बात प्रासंगिक नहीं होगी क्योंकि वो तो पहले से ही गुटबाज हैं। 

यह रहा कांग्रेस का आधिकारिक बयान
द टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक कांग्रेस के प्रवक्‍ता पंकज चतुर्वेदी ने कमलनाथ और सिंधिया के समर्थकों के बीच किसी भी तरह के पोस्‍टर वार से इनकार करते हुए कहा कि कौन कहता है कि ये लोग कांग्रेस के समर्थक हैं? उन्‍होंने कहा कि ये भी हो सकता है कि ये कथित समर्थक बीजेपी के लोग हों और मीडिया एवं हमारे कार्यकर्ताओं में भ्रम फैलाने के लिए इस तरह की हरकत कर रहे हों।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week