BJP: उमा, सुमित्रा और सुषमा सहित 150 सांसदों के टिकट कटेंगे | NATIONAL NEWS

09 July 2018

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह 2019 के चुनावों को लेकर बड़ी ही बारीकी से तैयारी कर रहे हैं। वो जानते हैं कि इस बार 2014 जैसी मोदी लहर नहीं होगी जिसमें अयोग्य प्रत्याशी भी मोदी के नाम पर जीत गए थे। इस बार प्रत्याशियों का लोकप्रिय होना जरूरी है। कई सांसद पिछले 4 सालों में लोकसभा से दूर हो गए और कई 4 राज्यों के विधानसभा चुनावों में अलग होने वाले हैं। अत: लोकसभा प्रत्याशियों के लिए नए सिरे से कवायद की जा रही है। बताया जा रहा है कि 150 नए चेहरे सामने होंगे। जबकि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, उमा भारती, राधा मोहन सिंह, सुमित्रा महाजन, मुरली मनोहर जोशी, करिया मुंडा, शांता कुमार और बीसी खंडूडी जैसे नेताओं के टिकट कट हो जाएंगे। 

सूत्र बता रहे हैं कि मध्यप्रदेश की विदिशा लोकसभा से सांसद मंत्री सुषमा स्वराज का टिकट बीमारी के नाम पर कटा जा सकता है। जबकि मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री एवं टीकमगढ़ निवासी केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती, कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह, इंदौर सांसद एवं लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने खुद पार्टी से कहा है कि वो अगला चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं।

शत्रुघ्न सिन्हा, जोशी, मुंडा, खंडूरी जैसे दिग्गज कट होंगे
वहीं मुरली मनोहर जोशी, करिया मुंडा, शांता कुमार और बीसी खंडूरी के टिकट बढ़ती उम्र के नाम पर काटे जा सकते हैं। हालांकि लालकृष्ण आडवाणी अपवाद हैं उनका टिकट काटा जाएगा या नहीं अभी इस बात का कोई जिक्र नहीं है। पटना से शत्रुघ्न सिन्हा, दरभंगा को कीर्ति आजाद का टिकट भी काटा जा सकता है।

इन राज्यों में नुक्सान से घबराई भाजपा
बता दें कि इस सूची में आधा दर्जन युवा मंत्री हो सकते हैं। अभी भाजपा के पास राजस्थान में 25 सीटें, हिमाचल में 4, दिल्ली में 7, उत्तर प्रदेश में 80 सीटों में से 71, छत्तीसगढ़ में 11 में से 10, मध्य प्रदेश में 29 में से 27 सीटें हैं। भाजपा को डर है कि इन राज्यों में पार्टी की सीटें आधी हो सकती हैं। यही कारण है की भाजपा 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर अपनी रणनीति में बड़ा बदलाव कर रही है। 

नमो एप के माध्यम से बुलवाई जा रहीं हैं शिकायतें
भाजपा ने इस बारे में आरएसएस के साथ भी इस मुद्दे पर चर्चा की है। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने मौजूदा 200 सासंदों का टिकट काटने का प्रस्ताव दिया था लेकिन बाद में इन्हें घटाकर 150 किया गया है। यही नहीं पार्टी प्रधानमंत्री नमो ऐप के माध्यम से और कई गैर-सरकारी संगठनों के माध्यम से सांसदों के काम का मूल्यांकन कर रही हैं। कई संसदों को सही से काम करने की चेतावनी भी दी गई है। भाजपा असम, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल में सीटों को बढ़ाने की कोशिश कर रही हैं।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts