भारत बंद: 2 अप्रैल के बाद अब 9 अगस्त का ऐलान | BHARAT BAND NEWS

31 July 2018

भोपाल। एक बार फिर दलित संगठनों द्वारा भारत बंद की आग सुलगाई जा रही है। लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान भारत बंद के नेता बनकर सामने आए हैं। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी सरकार को चेतावनी दी है कि अगर सरकार ने उनकी मांगे नहीं मानी तो अगले महीने उनकी पार्टी (LJP) दलित संगठनों के साथ सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी। उन्होंने चेताया कि 9 अगस्त को दलित संगठनों द्वारा घोषित राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन दो अप्रैल के 'भारत बंद' से भी ज्यादा 'आक्रोशित और अधिक तीव्र' हो सकता है। 

We wanted centre to bring an ordinance about SC/ST Act. But it couldn't be done now so we've asked centre to reintroduce it as a bill in the Parliament on Aug 7 & restore the previous law, as Dalit protests on Aug 9 could be more aggressive than April 2 protests:Chirag Paswan,LJP


सरकार ने सभी मंत्रियों को आंदोलन बिफल करने लगाया

चिराग पासवान की इस धमकी ने मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह सरकार की चिंताएं बढ़ा दीं हैं। बीजेपी ने अनुसूचित जाति वर्ग के मंत्रियों, विधायकों और सांसदों की डयूटी लगा दी है कि दलित समाज को इस आंदोलन से दूर रहने के लिए समझाइश दें। मंत्री लाल सिंह आर्य, गौरीशंकर शेजवार, सूर्य प्रकाश मीणा, सांसद थावर चंद्र गहलोत, वीरेंद्र कुमार, डॉ भागीरथ प्रसाद, मनोहर ऊंटवाल, चिंतामणि मालवीय समेत कई नेताओं को जिम्मेदारी दी गई है कि वो मध्यप्रदेश में इस आंदोलन को पूरी तरह से बिफल करें। इसके अलावा पुलिस मुख्यालय ने भी सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को अलर्ट कर दिया है। 


क्यों चिंतित हैं सीएम शिवराज सिंह

मध्यप्रदेश में वर्ग संघर्ष का माहौल चल रहा है। 2 अप्रैल को दलित संगठनों द्वारा बुलाया गया भारत बंद ग्वालियर, भिंड एवं मुरैना में हिंसक हो गया था। दोनों वर्ग आमने सामने आ गए थे। आम जन को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। इस घटना ने भाजपा को काफी नुक्सान पहुंचाया था। अब चुनावी माहौल है। ऐसे में यदि यह आंदोलन मध्यप्रदेश में भड़क जाता है तो इससे कांग्रेस को काफी फायदा होगा। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week