पिता-पुत्री जान बचाने कपड़े फाड़कर भागे लेकिन खेत में फंस गए, दामाद ने पत्थर मार-मार कर हत्या की

27 June 2018

इंदौर। देवास में एक सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा हुआ है। इंदौर निवासी विशाल व्यास शिवपुरी गया और अपनी पत्नी व ससुर को साथ लेकर वापस आया। सभी कार में सवार थे। सोनकच्छ के पास विशाल ने अपनी पत्नी व ससुर को जिंदा जलाने की कोशिश की। पिता-पुत्री जान बचाने के लिए कपड़े फाड़कर भागे लेकिन सामने खेत था। मिट्टी दलदली हो चुकी थी। दोनों खेत में फंस गए। विशाल ने किनारे से दोनों को पत्थर मार-मार कर हत्या कर दी। इस घटना में पिता महेश उपाध्याय की मौत हो गई लेकिन बेटी रजनी उपाध्याय जिंदा बच गई। वो फिलहाल कौमा में है। 

ऐसे हुई दोनों की शिनाख्त
घटनास्थल पर मिले एक मोबाईल फोन की मदद से मामले का खुलासा करने में पुलिस को खासी मदद मिली। फोन के आधार पर पुलिस ने हेमन्त उर्फ डिम्पल पिता महेश उपाध्याय निवासी छावनी शिवपुरी से संपर्क कर जो जानकारी प्राप्त की वह चौंकाने वाली थी। डिम्पल के अनुसार मृतक का नाम महेश उपाध्याय बताया गया जो की उसके पिता थे वहीं महिला का नाम रजनी पति विशाल व्यास (32) निवासी निपान्या इन्दौर बताया गया जो की उसकी बहन है। साथ ही बताया कि, सोमवार को महेश का दामाद विशाल दोनो को लेकर अपने दो दोस्तों के साथ शिवपुरी से निकला था।

ससुराल वालों ने की रजनी की शिनाख्त
पुलिस की जांच में मामले में अचानक उस समय मौड़ आया जब इन्दौर निवासी विशाल के ननिहाल पक्ष ओझा परिवार के कुछ सदस्य जो सांवेर सोनकच्छ में रहते हैं, एक्सीडेन्ट घटना की जानकारी लेने अचानक पुलिस थाने पहुंचे। जब पुलिस मामले की पड़ताल में लगी थी तभी ओझा परिवार के विरेन्द्र व योगेन्द्र आदि के साथ विशाल की मां कुसुम व्यास ने घायल महिला व मृतक की पहचान ही नही की बल्कि मामले मे खुलासा करते बताया कि रजनी का विवाह गत 8 मार्च को उसके पुत्र विशाल पिता हरिओम व्यास के साथ इन्दौर में सम्पन्न हुआ था, उस समय फलदान की रस्म को लेकर मेरे बड़े बेटे राहुल व समधी महेश उपाध्याय के बिच कहा सुनी हो गई थी।

परिवार में समझौता के लिए रजनी को लेने गया था
वहीं ओझा परिवार के एक सदस्य के अनुसार विशाल को प्रारम्भ से ही रजनी पसंद नही थी साथ दोनो परिवारों में हुए मन मुटाव को लेकर सांवेर मे एक बैठक होना थी। विशाल की मां के अनुसार रविवार को विशाल अपने दोस्त सन्नी पिता अशोक गुप्ता व सुरजसिंह ठाकुर के साथ एक सफेद रंग की कार से बहु रजनी को लेने शिवपुरी गया था, उसी कार में मै बैठकर आई थी। मुझे सांवेर छोड़कर यह लोग शिवपुरी गए थे। मेने कल विशाल को वापस आने के लिए फोन पर पुछा तो उसने रात 10.30 बजे शिवपुरी से निकलने का कहा था।

विशाल ने वादा किया था कि परिवार से अलग रहेंगे
दोपहर बाद शिवपुरी से सोनकव्छ पहुंचे मृतक के पुत्र हेमन्त उर्फ डिम्पल व सिम्पल ने बताया की शादि के बाद बहन रजनी का जेठ राहुल व्यास अक्सर 5 लाख रुपए की मांग करता था। जिससे तंग होकर रजनी को 25 दिन पहले विशाल शिवपुरी छोड़ गया था। जिसके बाद विशाल  सोमवार को आई-20 कार से बहन को लेने दो दोस्तों के साथ शिवपुरी आया ओर बहन को बोला कि हम मकान किराए का लेकर भाई राहुल से अलग रहेंगे।

पिता नया मकान दिलाने आ रहे थे
तब मेरे पिता ने बहन को भेजने की हां की तथा मकान देखने का बोलकर स्वयं भी इन लागों के साथ कार मे बैठकर रवाना हुए थे। मंगलवार को सुबह 7 बजे अचानक पिता के फोन से किसी ने फोन लगाकर सोनकच्छ में उनका एक्सीडेन्ट होने की खबर दी। फिलहाल मामले में पुलिस ने प्रथम सूचना कर्ता धन्नालाल पिता भागिरथ माली की रिपोर्ट पर से अज्ञात आरोपी के विरुद्ध धारा 302, 307 का प्रकरण दर्ज कर घटना के संदिग्ध विशाल, सुरजसिंह ठाकुर व सन्नी तीनो निवासी इन्दौर के साथ घटना में उपयोग ली गई कार की तलाश शुरू कर दी है।
इसी तरह की खबरें नियमित रूप से पढ़ने के लिए MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts