छतरपुर के बाद भोपाल में भी बेरोजगार फांसी पर झूला

13 June 2018

भोपाल। मप्र संविदा शिक्षक भर्ती परीक्षा का इंतजार करते करते थक चुके एक युवक ने छतरपुर में आत्महत्या कर ली थी। अभी यह खबर सुर्खियों से बाहर भी नहीं हुई थी कि भोपाल में भी एमटेक पास इंजीनियर की मौत की खबर आ गई। उसने फांसी लगाकर सुसाइड किया है। बताया जा रहा है कि वो पिछले 6 माह से बेरोजगार था। मप्र मेंं किसान और कर्मचारी के अलावा बेरोजगारी भी एक बड़ा मुद्दा बन चुकी है। सरकार केवल आंकड़ों में खेल रही है और बेरोजगारी के कारण हालात बिगड़ते जा रहे हैं। 

मिसरोद टीआई संजीव चौकसे के अनुसार इंडस टाउन होशंगाबाद रोड निवासी 28 वर्षीय दीपसिंह एमटेक कर चुका था। उसने रविवार को दोपहर अपने नए घर की छत पर बने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। परिजनों ने उसे फांसी के फंदे पर लटके देखा तो पुलिस को सूचना देकर बुलाया। तीन माह पहले है इंजीनियर का परिवार घर में शिफ्ट हुआ है।

टीआई संजीव चौकसे का कहना है कि दीप सिंह से एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें लिखा है कि वह अपनी मर्जी से जान दे रहा है। उसका यह कदम माफी योग्य नहीं है, लेकिन वह जिंदगी से परेशान हो चुका है। निजी कारणों के चलते वह जान दे रहा है। हालांकि निजी कारण स्पष्ट नहीं हो सके हैं। परिजनों के बयान होने के बाद ही खुदकुशी की सही वजह सामने आ पाएगी।

छह माह पहले छोड़ दी थी नौकरी
तीन भाइयों में दीप सिंह मंझला था। उसके पिता की इटारसी में आर्डिनेंस फैक्ट्री है। बड़े भाई की शादी हो चुकी है। वह अपने अलग फ्लैट में रहता है। दीप से छोटा भाई गजेंद्र एमपीनगर में निजी काम करता है। दीप सिंह छह माह पहले तक शहर के एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ाता था। लेकिन उसने छोड़ दी थी। नौकरी क्यों छोड़ी थी, इसकी वजह पुलिस तलाश रही है।
देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->