Loading...

शिवपुरी| भाजपा चुनाव हार गई तो सहरिया महिलाओं के 1000 प्रतिमाह बंद

भोपाल। शिवपुरी जिले की कोलारस विधानसभा में उपचुनाव आते ही सीएम शिवराज सिंह को सहरिया महिलाओं में अपनी बहनें नजर आने लगीं थीं। ताबड़तोड़ कार्यक्रम किए गए। ऐलान किया कि सहरिया महिलाओं को पोषण आहार के लिए प्रतिमाह 1000 रुपए दिए जाएंगे। चुनाव से पहले कैबिनेट में प्रस्ताव पास ​हुआ। रातों रात लिस्ट बनाई गई और अधिसूचना जारी होने से पहले पैसे भी ट्रांसफर कर दिए गए। बावजूद इसके भाजपा कोलारस का प्रतिष्ठापूर्ण चुनाव हार गई। इसी के साथ सहरिया महिलाओं के दिए जाने वाले 1000 रुपए प्रतिमाह भी बंद कर दिए गए। 

अब परेशान आदिवासी महिलाएं पैसा न मिलने को लेकर जिम्मेदार अफसरों के कार्यालयों और बैंकों के चक्कर लगा रहीं हैं लेकिन इनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। कई सहरिया आदिवासी परिवारों की महिलाओं ने बताया कि सीएम शिवराज सिंह ने बड़े जोर-शोर से उन्हें एक हजार रुपए हर महीने देने का वायदा किया था लेकिन यह पैसा चार महीने से उन्हें नहीं मिला है। 

40 में से 28 हजार चिंहित फिर भी नहीं मिल रहा पैसा

जिले में 40 हजार से ज्यादा सहरिया आदिवासी परिवार हैं लेकिन अभी तक 28 हजार ही आदिवासी चिंहित हो पाए हैं और इन्हें भी हर महीने यह पैसा नहीं मिल रहा है। बताया जा रहा हे कि हर महीने राज्य शासन से आदिम जाति कल्याण विभाग को यह बजट आ रहा है इसके बाद आदिम जाति कल्याण विभाग को जनपद पंचायतों के माध्यम से पैसा वितरित करवाना है लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है। शायद ऊपर से कोई दूसरा आदेश भी आ गया है। 

शहरी क्षेत्र में भी हालत खराब

शहरी क्षेत्र की पुरानी शिवपुरी के पास स्थित महल सराय आदिवासी बस्ती का जब दौरा किया तो यहां पर रहने वाले कई आदिवासी परिवारों को पैसा नहीं मिला है। शहरी क्षेत्र की आदिवासी बस्ती का जब यह हाल है तो ग्रामीण इलाकों में क्या हाल होगा इसे आसानी से समझा जा सकता है। महल सराय की महिला बृज आदिवासी, रामप्यारी आदिवासी, संपत आदिवासी ने बताया कि उन्हें चार महीने से पैसा नहीं मिला है। कई बार कलेक्टर सहित जनसुनवाई में शिकायत कर चुके हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। 

इनका कहना है

यह बात सही है कि पिछले चार महीने से पैसा आदिवासियों के खाते में नहीं पहुंच रहा है। इसमें हमारी गलती नहीं है यह पैसा जनपदों को हम देते हैं इसके बाद जनपद पंचायतों को आदिवासियों के खाते में यह पैसा पहुंचाना होता है वहीं से यह प्रॉब्लम है। खातों की जानकारी जनपद अधिकारी एकत्रित कर रहे हैं। 
वीपी माथुर 
प्रभारी, आदिम जाति कल्याण विभाग शिवपुरी 
BHOPAL SAMACHAR | HINDI NEWS का 
MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए 
प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com