LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें





एमपी बोर्ड का रिजल्ट अटका, 10:30 पर घोषित नहीं हुआ

14 May 2018

भोपाल। ​बोर्ड परीक्षाओं में परीक्षा परिणाम के दिन समय का विशेष महत्व होता है। पूरा प्रदेश 10:30 बजे से पहले आॅनलाइन था। टीवी पर इंटरनेट पर लोग अपने रिजल्ट का इंतजार कर रहे थे परंतु सीएम नहीं आए। इसलिए रिजल्ट की घोषणा को 45 मिनट आगे बढ़ा दिया गया। शायद यह पहली बार है जब परीक्षा परिणाम के समय में मुख्य अतिथि के कारण परिवर्तन किया गया। बता दें कि चुनावी साल के कारण इस बार सीएम हाउस में परीक्षा परिणाम घोषित किए जा रहे हैं। 

मूक-बधिर श्रेणी के रिजल्ट भी सोमवार को
हायर सेकंडरी व्यावसायिक, हाईस्कूल व हायर सेकेंडरी मूक-बधिर श्रेणी के अलावा डीपीएसई व शारीरिक पत्रोपाधि उपाधि 2018 का रिजल्ट भी इस मौके पर घोषित होगा। प्रदेश भर से इन परीक्षाओं में करीब 19 लाख विद्यार्थी शामिल हुए थे।

10वीं में बेस्ट आॅफ 5 लागू
एमपी बोर्ड 10वीं के विद्यार्थी काफी घबराए हुए हैं। असल में, पिछले कुछ सालों से 10वीं के नतीजे खराब आ रहे हैं। बीते सालों के रिजल्ट संबंधी आंकड़े बताते हैं कि एमपी बोर्ड 10वीं परीक्षा में विद्यार्थी के फेल होने का प्रतिशत बढ़ा है। 2017 में 10वीं में आधे विद्यार्थी फेल हो गए थे। पिछले साल सिर्फ 49.86 प्रतिशत विद्यार्थी ही 10वीं में पास हो पाए थे। वहीं, 2016 में 53.87 प्रतिशत विद्यार्थी पास हो पाए थे। 2015 में नतीजे और भी खराब रहे थे। इस वर्ष यहां 47.04 प्रतिशत स्टूडेंट्स ही उत्तीर्ण हो पाए थे। 2014 में पास प्रतिशत 54.14 रहा था। जबकि 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट प्रतिशत काफी अच्छा रहा है। 2017 में 12वीं में 68 फीसदी स्टूडेंट पास हुए थे।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->