मप्र पुलिस का सिपाही, डाकू निकला, IG की फोस में था तैनात

20 May 2018

मुरैना। मप्र पुलिस ने धर्मेंद्र गुर्जर को बतौर सिपाही भर्ती किया था। उसे जिम्मेदारी दी गई थी कि वो लोगों की चोर डाकुओं से रक्षा करे परंतु अब खुलासा हुआ है कि धर्मेंद्र गुर्जर खुद ही डाकू है। वो बाकायदा छुट्टी लेकर डकैती डालने जाता था। खुलासा तो तब हुआ जब विदिशा पुलिस ने 2 डकैतों को धर दबोचा और सख्ती से पूछताछ की। चौंकाने वाली बात यह है कि सीने पर पुलिस की वर्दी ताने घूम रहा धर्मेंद्र गुर्जर चंबल जोन के आईजी की रिजर्व फोर्स का सिपाही है।

धर्मेंद्र उर्फ कल्लू गुर्जर नाम का युवक मप्र पुलिस में सिपाही के पद पर कार्यरत है। उसने डकैती डालने के लिए बाकायदा नौकरी से छुट्टी ली। इसके बाद ये जाकर अपने गैंग में शामिल हो गया और 25 लाख की डकैती की वारदात को अंजाम दिया। इन बदमाशों ने 4 दिन पहले सिरोंज में एक व्यापारी के घर 25 लाख रुपये की डकैती डाली थी। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी जोगेंद्र और सूरज गुर्जर को गिरफ्तार किया था।

पूछताछ में आरोपियों ने किया खुलासा 

क्राइम ब्रांच द्वारा जब सख्ती से पूछताछ की गई तो इन दोनों आरोपियों ने डकैती की बात तो स्वीकारी ही। साथ ही ये खुलासा भी किया कि धर्मेंद्र गुर्जर भी डकैती में शामिल था। क्राइम ब्रांच की टीम ने जोगेंद्र से सिपाही धर्मेंद्र की बात कराई, जिसमें जोगेंद्र ने धर्मेंद्र को हिस्सा बांटने के लिए एक जगह बुलाया। जिसके बाद टीम ने धर्मेंद्र को मौके से धरदबोचा।

आरोपियों के कब्जे से डकैती का माल बरामद

बदमाशों पर आरोप है कि इन्होंने सिरोंज में व्यापारी राजू अग्रवाल और उसकी पत्नी को डकैती के दौरान आभूषण लेने के उद्देश्य से कमरे में बंद कर के पीटा था। क्राइम ब्रांच की टीम ने पकड़े गए तीनों आरोपियों के कब्जे से ढाई किलो चांदी के आभूषण, एक कट्टा, एक पिस्टल और एक बाइक जब्त की है। 

चौथे आरोपी की तलाश में जुटी टीम

इन बदमाशों की निशानदेही के आधार पर सिरोंज पुलिस ने 19 लाख रुपये से अधिक कीमत का माल बरामद किया है। क्राइम ब्रांच की टीम डकैती में शामिल चौथे आरोपी नेहरू गुर्जर को तलाश कर रही है।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week