Loading...

78 प्रतिशत जनता सीएम हेल्पलाइन से असंतुष्ट

भोपाल। मध्यप्रदेश की 78 प्रतिशत जनता सीएम हेल्पलाइन से असंतुष्ट है। उनका मानना है कि यह सेवा बिल्कुल वैसी नहीं है जैसी की सीएम शिवराज सिंह ने इसे लांच करते हुए घोषणा की थी या जैसा कि इसके नाम से प्रतीत होता है। लोग इस सेवा को अपडेट और एडवांस बनाना चाहते हैं। लेकिन 22 प्रतिशत लोग सीएम हेल्पलाइन से खुश हैं। उन्हे इसके माध्यम से अपनी समस्याओं का समाधान मिला। इधर सीएम हेल्पलाइन का दावा है कि अब तक उसे 60 लाख से ज्यादा शिकायतें मिलीं और उसने 57 लाख से ज्यादा शिकायतों का समाधान करवाया। 

ओपिनियन पोल की जरूरत क्या थी
2018 चुनावी साल है। इस साल मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। सीएम शिवराज सिंह का दावा है कि उनकी योजनाओं ने लोगों को राहत दी है और जनता की समस्याओं को त्वरित व उचित समाधान किया गया है। सीएम शिवराज सिंह का दावा है कि सीएम हेल्पलाइन लोगों के लिए काफी राहतकारी रही। वो गर्व के साथ इस योजना का नाम लेते हैं। अत: प्रासंगिक था कि जनता से पूछा जाए कि क्या वो सचमुच राहत महसूस करती है।

क्या नतीजे आए इस आॅनलाइन सर्वे के
यह आॅनलाइन सर्वे मात्र 24 घंटे के लिए था। इसके लिए फेसबुक की तकनीकी मदद ली ताकि पारदर्शिता एवं विश्वस्नीयता बनी रहे। इस सर्वे को भोपाल समाचार के 121 पाठकों ने जनता तक पहुंचाया जबकि 124 लोगों ने इस पर कमेंट्स किए। कुल 14000 से ज्यादा लोगों से यह सवाल पूछा गया और 1200 से ज्यादा लोगों ने जवाब दर्ज कराया। 78 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वो एमपी आॅनलाइन की सेवाओं से असंतुष्ट हैं जबकि 22 प्रतिशत लोगों ने इस सेवा पर संतोष जताया।