MPPEB: ग्रुप-4 की परीक्षा से पहले योग्यता ही बदल दी | MP NEWS

Friday, April 6, 2018

प्रति,
आदरणीय  सम्पादक महोदय 
भोपालसमचार.कॉम
महोदय, निवेदन है कि मेरे साथ मध्य प्रदेश के कई बेरोजगार को मप्र शासन द्वारा भर्ती के नाम पर छलावा किया जा रहा है। शासन जब चाहें कुछ भी भर्ती नियम बना कर लागू कर देती है किन्तु बेरोजगार साथी शासन द्वारा निर्धारित योग्यता के अनुसार अपनी तैयारी करते है किन्‍तु शासन बीच में कभी भी अपना भर्ती नियम बदल देती है जिससे बेरोजगार युवा जो लम्बे‍ समय से परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं वो अपने आप को ठगा सा महसूस करता है। 

दिनांक 07/11/2016 को प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा आयोजित ग्रुप-4 की परीक्षा में भी कई पदों कीपूर्व निर्धारित योग्याता बदल दिये जाने के कारण एवं सहायक ग्रेड 3 के पदों के लिये म.प्र. शीघ्र लेखन मुद्रलेखन बोर्ड से हिन्दी टंकण प्रमाण पत्र को हटा कर CPCT Score Card में कम्यूटर प्रोफेंसिए हिन्दी टायपिंग उत्तीर्ण किये जाने के कारण आज दिनांक तक उक्त‍ रिक्त पदों पर चयनित आवेदकों की नियुक्ति नहीं हो पायी है। साथ ही सामान्य प्रशासन विभाग म.प्र शासन का उक्त पदों के संबंध में टायपिंग संबंधी योग्याता स्पसष्ट नहीं किये जाने के कारण अधिकांश विभागों में इंग्लिश टायपिंग के अभाव में पात्र आवेदकों को अपात्र कर दिया गया। साथ ही साथ भ्रष्टााचार को बढावा दिया जा रहा है। 

दिनांक 03/02/2018 को म.प्र शासन द्वारा जारी असाधारण राजपत्र क्रमांक 91 म.प्र. सचिवालय सेवा भर्ती नियम, 1976 में संशोधन कर  सहायक ग्रेड-3 के पदों लिये निर्धारित योग्याता 12 वीं उर्त्तीण, यूजीसी से एक वर्षीय कम्प्यूटर डिप्लोमा एवं CPCT Score कार्ड में हिन्दी् एवं इंग्लिश टायपिंग अनिवार्य किया गया है। जबकि राज्य शासन के किसी भी कार्यालय में सहायक ग्रेड-3 को इंग्लिश टायपिंग का कार्य नहीं होता जिससे इंग्लिश टायपिंग को अनिवार्य किये जाने औचित्य प्रतीत नहीं होता है। उक्त योग्यता मात्र 1 वर्ष के अन्दर बदल दी गई है। 

वर्तमान में शासन द्वारा पटवारी के पदों के लिये भी पूर्व निर्धारित योग्ययता को बदल दिया गया एवं CPCT Score Card अनिवार्य करने के पश्चायत केवल स्नादतक उत्तीार्ण आवेदकों को शामिल किया गया। जिससे कई आवेदक जिन्हो‍नें यू.जी.सी. से कम्प्यूटर डिप्लोमा कोर्स एवं CPCT Score Card परीक्षा उत्तीर्ण किये थे वो भी व्यर्थ हो गये। जिससे आवेदको का मानसिक आर्थिक शोषण हुआ हजारों रूपयें उक्ता पदों की योग्येता के लिये खर्च करने करने के पश्चा्त शासन द्वारा अपने हितों को ध्यापन में रखते हुये योग्यलता बदल कर बेरोजगार आवेदकों की उपेक्षा की गई। 

इस प्रकार वर्तमान में म.प्र शासन की भर्ती वर्तमान में योग्यता के अनुसार न हो कर वोट बैंक एवं गलत योग्याता निर्धारण कर योग्यत आवेदक/पात्र आवेदकों को मौका न देकर ज्यादा से ज्यादा आवेदकों फार्म भरने हेतु उत्साोहित कर पैसा कमाना हैं। महोदय आशा ही नहीं पूर्ण विश्वाास है कि आप मेरे इस मुद्दे को प्रमुखता से शासन की ओर पहुचायेंगें एवं शासन को म.प्र के  बेरोजगार युवाओं के भविष्यस के साथ हो रहे खिड़वाड से रोकेगें। 

आवेदक
राजेन्द्र कुमर मस्कहरे
पता वार्ड न- 02 फारेस्ट  नाका के पीछे
भटेरा चौकी बालाघाट ४८१००१
मों ९५८४६४४७६०

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week