LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




PM के बयान के बाद आॅस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने इस्तीफा दिया | SPORTS NEWS

25 March 2018

न्यूलैंड्स। साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की ओर से की गई बॉल टेम्परिंग का मामला अब तूल पकड़ने लगा है। रविवार को ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल ने घटना पर निराशा जताते हुए क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन डेविड पीवर को जरूरी कार्रवाई के निर्देश दिए। टर्नबुल ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेटर्स को शायद नेताओं से भी ऊपर देखा जाता है। ऐसे में इस तरह की घटना बेहद निराशाजनक है। इस मामले में पीएम का बयान आने के कुछ ही देर बाद स्टीव स्मिथ ने कप्तानी से इस्तीफा दे दिया। उनके साथ डेविड वॉर्नर ने भी उपकप्तानी छोड़ दी।

सीरीज के बीच में कप्तान बने टिम पेन
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एलान किया गया कि बाकी बचे तीसरे टेस्ट के लिए टिम पेन टीम की कप्तानी करेंगे। इससे पहले क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सीईओ जेम्स सदरलैंड ने जांच के बगैर कोई फैसला नहीं किए जाने की बात कही थी। उन्होंने जांच पूरी हो जाने तक स्मिथ के कप्तान बने रहने की बात भी कही थी।

क्या है बॉल टेम्परिंग मामला?

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्मिथ के मुताबिक, बॉल टेम्परिंग को अंजाम देने के लिए टीम के ओपनिंग बल्लेबाज कैमरन बेनक्रॉफ्ट को चुना गया। पिछले कुछ समय से उनके खराब प्रदर्शन को लेकर टीम में चर्चाएं भी चल रही थीं। बेनक्रॉफ्ट ने बॉल टेम्परिंग के आरोपों को कबूलते हुए कहा कि वो गलत समय पर गलत जगह मौजूद थे। हालांकि, उन्होंने ऐसा करने के पीछे किसी भी तरह के दबाव की बात से इनकार किया है। बेनक्रॉफ्ट ऑस्ट्रेलिया के कम चर्चित खिलाड़ी हैं। माना जा रहा है कि इसी के चलते उन्हें बॉल से छेड़छाड़ करने की जिम्मेदारी दी गई, ताकि मामला ज्यादा बड़ा ना बन सके।

बॉल टेम्परिंग के लिए किस चीज का इस्तेमाल हुआ?
बेनक्रॉफ्ट अपनी जेब में एक पीले रंग का टेप छिपाकर लाए थे। उन्हें जब भी मौका मिलता वे उसमें ग्राउंड से कुछ कंकड़ इकट्ठा कर लेते। इस तरीके से बॉल घिसने के लिए वो बार-बार टेप का इस्तेमाल कर रहे थे।

कैसे पकड़ में आया मामला?
बॉल को घिसने के दौरान देरी की वजह से अंपायरों में शक पैदा हो गया। उन्होंने बेनक्रॉफ्ट से पूछताछ की। हालांकि, तब उन्होंने अंपायरों को अपनी जेब से एक सनग्लासेज का बॉक्स निकालकर दिखाया। अंपायरों ने शक को खत्म करने के लिए टेलीविजन कैमरा पर इस घटना को बार-बार देखा, जिससे साफ हो गया कि बेनक्रॉफ्ट ने टेप अपनी अंडरवियर के अंदर छुपाया था। साथ ही ग्राउंड में लगी बड़ी स्क्रीन पर भी इस वाक्ये को बार-बार स्लो मोशन में दिखाया गया। इसके अलावा दुनियाभर में लाइव टेलिकास्ट के दौरान भी इस घटना को बार-बार रीप्ले कर के दिखाया गया।

मामले पर स्मिथ ने क्या कहा?

दिन का खेल खत्म होने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने एलान किया कि उनका कोई भी खिलाड़ी सामान्य इंटरव्यू में हिस्सा नहीं लेगा, बल्कि टीम सिर्फ एक न्यूज कॉन्फ्रेंस ही करेगी। कॉन्फ्रेंस के दौरान स्मिथ और बेनक्रॉफ्ट से टेम्परिंग को लेकर कई सवाल किए गए। दोनों ने आरोपों को कबूल भी लिया। स्मिथ ने कहा कि टीम के खिलाड़ी ऐसी कोशिश कर के कुछ बढ़त हासिल करना चाहते थे, क्योंकि हमें ये मुकाबला काफी अहम लगा था। स्मिथ ने बताया कि इस मामले में टीम के कुछ सीनियर खिलाड़ी भी शामिल हैं। माना जा रहा है की क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया जांच में हर खिलाड़ी से अलग पूछताछ करेगा।

क्या कार्रवाई कर सकता है ICC?
माना जा रहा कि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) रविवार को खिलाड़ियों पर गलत व्यवहार के लिए जुर्माने का एलान कर सकता है। बेनक्रॉफ्ट ने कहा कि उन पर बॉल टेम्परिंग का जुर्माना लगा है। इसके तहत खिलाड़ी पर एक टेस्ट का बैन और मैच फीस का 100 फीसदी जुर्माना लगाया जा सकता है। वहीं स्मिथ और बाकी सीनियर खिलाड़ियों का रोल सामने आने पर उनके खिलाफ भी जुर्माना लगाया जा सकता है। अगर उपकप्तान डेविड वार्नर प्लानिंग में दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें भी चौथे टेस्ट से बैन किया जा सकता है। यानी ऑस्ट्रेलिया को आखिरी टेस्ट में अपने दोनों ओपनिंग बल्लेबाजों के साथ खेलना पड़ सकता है।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->