भगवान महावीर की प्राचीन प्रतिमा पर वर्षों तक कपड़े धोते रहे लोग | NATIONAL NEWS

09 March 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में विकासखंड बदरवास में सिंध नदी के किनारे एक सफेद पत्थर पड़ा हुआ था। लोग कई वर्षों से उस पर कपड़े धोया करते थे, स्नान किया करते थे लेकिन अब जाकर खुलासा हुआ है कि वो कोई आम पत्थर नहीं था बल्कि भगवान महावीर की प्राचीन प्रतिमा है। नदी किनारे से प्रतिमा प्राप्त होने की खबर पूरे इलाके में फैल गई है। लोग उसके दर्शनों को जुट रहे हैं। 

बदरवास क्षेत्र के सिंध नदी के अखाई घाट पर अक्सर स्थानीय ग्रामीण जन नदी के किनारे नहाने-कपडे धोने के लिए जाया करते है। उसी जगह 26 फरवरी को जब रेत करोबारी रेत का खनन कर रहे थे तो उक्त पत्थर रेत खनन में परेशनी पैदा कर रहा था। रेत में दबे इस पत्थर को जब मशीन हटाया तो वह उल्टा हो गया। जब यह पत्थर पलटा तो वहां पर उपस्थित जनसमुदाय हतप्रभ रह गया। यह पत्थर एक प्राचीन प्रतिमा की तरह दिख रहा था। 

स्थानीय नागरिकों ने इसे साफ किया तो यह जैन सम्प्रदाय की प्रतिमा निकली। इसे भगवान महावीर की प्रतिमा बताया जा रहा है। स्थानीय जैन समाज को इसकी सूचना दी। जैन समाज ने इस मूर्ति को देखा तो यह मूर्ति भगवान महावीर स्वामी की निकली। उक्त मूर्ति को बदरवास के स्थानीय मंदिर में रखवा दिया है। बताया जा रहा है कि उक्त मूर्ति पर स्थानीय नागरिक वर्षो से नहा रहे थे और कपड़े धो रहे थे। 

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->