कौशल विकास के संविदा कर्मचारियों ने मांगी बहाली और संविलियन | MP NEWS

09 March 2018

भोपाल। संविदा कौशल विकास प्रशिक्षक संघ के प्रतिनिधियों ने निष्कासित संविदा कर्मचारियों की जल्द सेवा बहाली एंव संविलियन के मुददे पर म.प्र.राज्य कर्मचारी कल्याण समिति के अध्यक्ष श्री रमेश चन्द्र शर्मा जी (राज्यमंत्री दर्जा) जी से भेंट कर दो सूत्रीय ज्ञापन सोंपा। ज्ञापन मे उल्लेख किया गया की प्रदेश के 133 शासकीय कौशल विकास केन्द्रो (एसडीसी) के निष्कासित प्रबंधक, लेखापाल, एंव प्रषिक्षक (टी.ओ.) पद के अनुभवी संविदा कर्मचारियों की मुख्यमंत्री कौषल संवर्धन योजना एंव मुख्यमंत्री कौषल्या योजना में सेवाबहाली की जाए।

वर्तमान मे रिक्त आईटीआई (टी.ओ.)/ग्रेड-3 के पद पर एसडीसी कर्मीयों का संविलियन हो. कौषल विकास केन्द्र के समस्त कर्मचारी विगत 6 वर्षो से निरंतर संविदा आधार पर शासन को अपनी सेवाऐं सफलतापूर्वक दे रहे है, परन्तु वर्तमान संविदा नीति में न ट्रांसफर पॉलिसी, न बीमा, न उज्जवल भविष्य ऐसी नीति के कारण अच्छे ईलाज, षिक्षा, स्वयं के घर, की कल्पना भी नही की जा सकती, अल्प वेतनमान के कारण परिवार का भरण पोषण, भी करना असम्भव है।समस्त कर्मचारी यही निवेदन करते है कि हमने अपने जीवन के लगभग 6 वर्ष स्वर्णिम समय शासन की संविदा सेवा मे कुर्बान कर दिये। 

हमारे अनुभव को संज्ञान मे लेते हुए, वर्तमान में शासकीय आईटीआई के रिक्त पडे हजारों प्रषिक्षण अधिकारी (टी.ओ) एंव ग्रेड-3 के पदों पर कर्मचारियों की शैक्षेणिक योग्यतानुसार संविलियन किये जाने की अतिक्रपा करे। कर्मचारीयों ने कहा की मॉगें जल्द पूरी न होने पर प्रदेश व्यापी आन्दोलन करने के लिए विवश होंगे एंव इसकी सम्पूण जिम्मेदारी विभाग एंव शासन की होगी।

ज्ञापन के दौरान म.प्र.संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेष अध्यक्ष रमेश राठौर एंव संविदा कौशल विकास प्रशिक्षक संघ से अबरार कुरैषी, नीरज शर्मा, खोमेन्द्र ठाकुर,विवेक गुप्ता, पल्लब आप्टे, अवधेष पटैरिया, नरेन्द्र सोंधिया, नितिन श्रीवास्तव एंव अन्य संविदा कर्मचारी उपस्थित रहे। 

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->