नंदकुमार सिंह की विदाई का वक्त तय, नरेंद्र सिंह तोमर पर सबकी सहमति | MP NEWS

Tuesday, March 27, 2018

भोपाल। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान की विदाई का समय तय हो गया है। यह अप्रैल महीने के पहले सप्ताह में कभी भी हो सकती है। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर उनकी कुर्सी संभालेंगे। तोमर के नाम पर सभी की सहमति बन गई है। इसी के चलते पिछले दिनों सीएम शिवराज सिंह चौहान दिल्ली में उनसे मिलने गए थे। याद दिला दें कि भोपालसमाचार.कॉम ने 24 मार्च को ही इसकी जानकारी दे दी थी। (पढ़ें तीसरी बार प्रदेश अध्यक्ष बनेंगे तोमर!, शिवराज सिंह मिलने पहुंचे)

खबर आ रही है कि तोमर केंद्रीय मंत्री रहते हुए ही संगठन की कमान संभालेंगे। केंद्रीय नेतृत्व इस जोड़ी के अलावा भी तीन राज्यों के लिए चुनावी टीम बनाने पर विचार कर रहा है। कर्नाटक के चुनावों के बाद इसका एलान होगा। इस कवायद से साफ है कि तोमर तीसरी बार मध्यप्रदेश भाजपा के अध्यक्ष बनेंगे। सूत्र बता रहे हैं कि तोमर संघ, भाजपा आला कमान व शिवराज सिंह की पहली पसंद हैं।

गप्प लड़ाने नहीं अमित शाह के आदेश पर गए थे CM
बताया जा रहा है कि पिछले दो विधानसभा चुनाव में अनुकूल परिणाम देने वाली तोमर और शिवराज की जोड़ी को ही तीसरी बार यह जिम्मेदारी दी जाएगी। तोमर के नाम पर मुख्यमंत्री ने भी सहमति दे दी है। इसी के चलते सीएम शिवराज सिंह दिल्ली में सभी बड़े नेताओं से मिले। सूत्रों का कहना है कि यह मुलाकात भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कि योजना का हिस्सा थी।हालांकि, मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री चौहान ने मीडिया से कहा कि वो श्री तोमर के पास गप्प लड़ाने आए थे। 

तोमर के विरोधियों से अब आलाकमान बात करेगा
पार्टी में उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि अमित शाह के स्तर पर लिए गए फीडबैक के बाद सामने आया कि चुनाव के समय तोमर की भूमिका इसलिए अहम होगी कि वे बड़े नेताओं की बीच सामंजस्य बना सकते हैं और असंतोष को थामने में सबका सहयोग ले सकते हैं। इस समय मप्र के कई बड़े नेता भीतर ही भीतर संगठन व सत्ता की कार्यशैली से पशोपेश में हैं। पार्टी का मानना है कि तोमर इस स्थिति में सकारात्मक रहेंगे। प्रदेश अध्यक्ष के जो कथित अन्य दावेदार हैं, उनके साथ यह प्रयोग संभवत: सफल न हो। इसीलिए आलाकमान तोमर के नाम पर सहमत हो गया है। जहां तक तोमर के कुछ विरोधियों का सवाल है तो उनसे अब आलाकमान बात करेगा।

जैन भी चुनाव तक यहीं रहेंगे
मप्र-छग के क्षेत्रीय प्रचारक रहे अरुण जैन को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी में ले लिया गया है। उनकी जगह दीपक विस्पुते आ गए हैं, लेकिन बताया जा रहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव तक अरुण जैन मप्र में ही काम करेंगे। ऐसा इसलिए किया गया है कि जैन लंबे समय मप्र-छग में रहे। भाजपा में कई पदाधिकारी उनके या करीबी रहे हैं या जानकार। इसका लाभ चुनाव में मिल सकता है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week