BALAGHAT: 56 किलो की बोरियों में 10 किलो मिट्टी, घोटाला | MP NEWS

Saturday, March 24, 2018

आनंद ताम्रकार/बालाघाट। बालाघाट जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से उपभोक्ताओं सहित अन्य हितग्राहियों को वितरित किये जाने के लिये जबलपुर क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा जो गेंहू भिजवाया गया है उसमें भारी मात्रा में मिट्टी की मिलावट की गई है। जिले के लालबर्रा एवं वारासिवनी स्थित गोदामों में भण्डारित गेंहूं की हालत देखते हुये आपूर्ति निगम के अधिकारियों ने मुख्यालय को गेहूं की वास्तविकता तथा मिट्टी की मिलावट के बारे में अवगत कराया ताकि वितरण किये जाने के बाद उपभोक्ताओं तथा अन्य हितग्राहियों में गेंहू की हालत देखकर कोई बवाल ना खडा हो जाये।

इस संबंध में नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक श्री डी.एस.कटारे से मिट्टी मिले गेहूं के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई तो उन्होने स्वीकार किया की जबलपुर से जो गेहूं की मात्रा लगभग 288 मैट्रिक टन प्राप्त हुई है उसमें बहुत ज्यादा तादात में मिट्टी की मिलावट दिखाई दे रही है जिसे उपभोक्ताओं को वितरित नही किया जा सकता। इस संबंध में उन्होने बताया मुख्यालय को अवगत कराये जाने पर गेंहू को थ्रेसर तथा अन्य माध्यम से साफ करने के निर्देश प्राप्त हुये है। गेंहू को साफ कराये जाने के बाद ही वितरित किया जायेगा।

यह उल्लेखनीय है कि लालबर्रा तथा वारासिवनी के गोदामों जो गेंहु भण्डारित किया गया है उसमें 50 किलो की बोरियों में 7 से 10 किलो तक की मात्रा में मिट्टी मिलाई गई है। यह जांच का विषय है कि वर्ष 2016-17 में खरीदे गये गेहूं में मिट्टी की मिलावट गेहूं की खरीदी के समय या गेहू के भण्डारन के दौरान योजनाबद्ध तरीके से गोदाम के अंदर मिलाई गई है। यह भी जांच का विषय है कि जबलपुर से यह गेहूं पहुचाया गया है वहां के गोदामों में मिट्टी की मिलावट वाले गेहु की कितनी मात्रा भण्डारित है तथा इस प्रकार का अमानक और मिलावटी गेहूं की खरीदी के लिये किसको जवाब देह ठहराया जायेगा।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week