सिंधिया समर्थक के जाल में फंसे CM शिवराज सिंह, शर्मसार होकर लौटे | MP NEWS

Saturday, February 17, 2018

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नक्षत्र ठीक नहीं चल रहे हैं। आए दिन उनकी किरकिरी हो जाती है। मुंगावली में भी कुछ ऐसा ही हुआ। कांग्रेस की ओर से कमजोर प्रत्याशी और प्रभावशाली सिंधिया समर्थक नेता केपी यादव के भाजपा ज्वाइन कर लेने के बाद भाजपा की स्थिति यहां अच्छी मानी जा रही थी परंतु प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान के पटाखा प्लान ने ऐसा धमाका किया कि सीएम शिवराज सिंह का दामन ही जल गया। नंदकुमार सिंह, सीएम शिवराज सिंह को कांग्रेस नेता मनोज जैन के यहां ले गए। ऐलान कर दिया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के सांसद प्रतिनिधि मनोज जैन ने भाजपा ज्वाइन कर ली है लेकिन सीएम के लौटते ही मनोज जैन ने इस ऐलान का खंडन कर दिया। मनोज ने दोहराया कि वो तो कांग्रेसी ही है। सीएम घर आए थे इसलिए नाश्ता करा दिया। 

अशोकनगर के मुंगावली उपचुनाव में भाजपा ने एक बार फिर सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को बीजेपी ने झटका देने की कोशिश की थी। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के सांसद प्रतिनिधि डॉ.केपी यादव को भाजपा में शामिल कराने के बाद आज सीएम शिवराजसिंह आधा दर्जन मंत्रियों और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान के साथ एक और सांसद प्रतिनिधि मनोज जैन के घर जा पहुंचे। इतना ही नहीं उन्होंने जैन के साथ पहले बैठकर खाना खाया फिर ये एलान भी कर दिया गया कि सिंधिया के प्रतिनिधि बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। 

लेकिन जैसे ही मुख्यमंत्री अपने लाव-लश्कर के साथ वहां से रवाना हुए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रतिनिधि मनोज जैन ने बीजेपी नेताओं के दावों की हवा निकालते हुए बीजेपी में शामिल होने से ही इंनकार कर दिया। हालांकि इससे पहले जैन ने बंद कमरे में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ-साथ प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान के साथ करीब आधे घंटे बैठक की। इसी दौरान बीजेपी के कुछ नेताओं ने जैन के बीजेपी में शामिल होने का एलान भी कर दिया लेकिन कुछ ही देर में मनोज जैन ने सभी दावों का खंडन कर दिया। 

नंदकुमार सिंह ने बनाया था प्लान

सूत्रों की मानें तो भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान सीएम शिवराजसिंह और मंत्रियों को मनोज जैन के घर ये कहकर ले गए थे, कि मनोज जैन बीजेपी की सदस्यता लेने वाले हैं। सिंधिया को झटका देने के फेर में सीएम सहित करीब दर्जन भर मंत्री मनोज जैन के यहां पहुंच गए, लेकिन मनोज जैन ने सदस्यता लेने से इंकार कर दिया और सिंधिया को झटका देने के बीजेपी के मंसूबों पर पानी फेर दिया। कांग्रेस नेता मनोज जैन ने कहा कि 'प्रदेश सरकार के मुखिया मेरे घर नाश्ते के लिए आए थे। मैंने उनका एक परिवार के सदस्य की तरह स्वागत किया है। मैंने भाजपा की कोई सदस्यता नहीं ली है।'

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week