BHOPAL आ सकती है गतिमान एक्सप्रेस, 8:30 घंटे में पहुंचाएगी दिल्ली | MP NEWS

21 February 2018

भोपाल। देश की सबसे तेज चलने वाली ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस ने ग्वालियर तक सफर तय कर लिया है। यह ट्रेन सोमवार से ग्वालियर तक आने लगी है। रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि बाद में इस ट्रेन को आगे बढ़ाने पर विचार किया जा सकता है। गतिमान ट्रेन भोपाल आ सकती है, लेकिन इसकी गति कम हो जाएगी। वजह, काली मिट्टी के चलते बीना से भोपाल के बीच का रेलवे ट्रैक तेज स्पीड में हिलने लगता है। इस कारण इस ट्रेक पर शताब्दी की तरह गतिमान एक्सप्रेस भी 93 किमी प्रतिघंटे की स्पीड से ही दौड़ पाएगी।

गतिमान एक्सप्रेस सोमवार को पहले दिन नई दिल्ली से ग्वालियर 3.9 घंटे में पहुंच गई। दोनों स्टेशनों के बीच की दूरी 309 किमी है। अब इस ट्रेन को पहले झांसी और भोपाल तक बढ़ाने का रेलवे विचार कर रहा है। लेकिन, इसमें बड़ी दिक्कत यह है कि बीना से भोपाल के बीच काली मिट्टी है। ट्रेन की तेज रफ्तार के कारण ट्रैक हिलने लगता है। बारिश के दिनों में तौ ट्रैक की मजबूती के लिए चूना का इंजेक्शन लगाना पड़ता है। शताब्दी भी इसी वजह से रफ्तार नहीं पकड़ पा रही है। बीना से भोपाल के बीच शताब्दी की अधिकतम स्पीड 120 किमी प्रति घंटे है, लेकिन ट्रेन अधिकतम 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ही चल पाती है। तीसरी रेल लाइन बनने के बाद भी अधिकतम रफ्तार नहीं बढ़ी है।

दरअसल, नई दिल्ली भोपाल-शताब्दी एक्सप्रेस गतिमान के बाद देश की दूसरी सबसे ज्यादा तेज चलने वाली ट्रेन है। शताब्दी का रैक भी एलएचबी (लिंक हॉफमैन बुश) हैं। इस रैक को 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ाया जा सकता है, लेकिन काली मिट्टी की वजह से बीना से भोपाल के बीच इसकी स्पीड 100 किमी प्रतिघंटे से नीचे रहती है। इस तरह गतिमान एक्सप्रेस को रेलवे भोपाल तक बढ़ा सकता है, लेकिन 100 किमी प्रतिघंटे से ज्यादा रफ्तार बढ़ाना मुश्किल होगा।

ट्रैक का अपग्रेडेशन करना होगा
रेलवे रिटायर्ड असिस्टेंट ऑपरेटिंग मैनेजर एएस यादव ने कहा कि बीना-भोपाल के बीच गतिमान एक्सप्रेस को 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाने के लिए ट्रैक का अपग्रेडेशन करना होगा। मौजूदा स्पीड 120 किमी प्रति घंटे है। इसी रफ्तार से गतिमान एक्सप्रेस आती है तो लगभग शताब्दी के बराबर ही समय लगेगा। उन्होंने बताया कि गतिमान एक्सप्रेस की ग्वालियर तक औसत स्पीड 100 किमी प्रति घंटे आ रही है। शताब्दी की नई दिल्ली से हबीबगंज तक औसत स्पीड 93 किमी प्रति घंटे है। इस तरह ज्यादा फर्क नहीं पड़ रहा है।

झांसी से हबीबगंज का सफर 3.34 घंटे में
शताब्दी एक्सप्रेस झांसी से हबीबगंज तक 296 किमी का सफर 3.34 घंटे में तय करती है। यानी, ट्रेन की औसत स्पीड 88 किमी प्रति घंटे रहती है। उधर, ग्वालियर के पहले औसत स्पीड करीब 100 किमी प्रति घंटे है।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->