3 लाख गरीबों का साल भर का चावल गोदाम में सड़ा दिया | BALAGHAT NEWS

Wednesday, December 13, 2017

आनंद ताम्रकार/बालाघाट। जिले के कटंगी स्थित भारतीय खादय निगम तथा वेयर हाउस के गोदामों में भण्डारित 51 हजार 840 क्विंटल चावल अधिकारियों और कर्मचारियों की सांठगांठ और लापरवाही के चलते सड़ गया। अब यह चावल किसी उपयोग का नही रह गया है। 13 करोड रूपये मूल्य का चावल को नष्ट करने के अलावा और कोई विकल्प नही है। बता दें कि इतना चावल 50000 परिवारों के लिए एक साल का भोजन होता है। एक परिवार में औसत 3 व्यक्ति दर्ज करें तो यह 3 लाख लोगों का भोजन था। शिवराज सिंह सरकार ने यह चावल मध्यप्रदेश के मध्यमवर्ग पर लगाए गए मनमाने टैक्स से जमा हुए धन से खरीदा था। 

नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा कस्टम मिलिंग के माध्यम से खरीदे गये अमानक स्तर का चावल और मध्यप्रदेश वेयर हाउस लॉजिस्टिक कारपोरेशन द्वारा रखरखाव में बरती गई लापरवाही के चलते सरकार को करोडों रूपये की क्षति पहुचाई गई है। इसके आकलन के लिये भोपाल स्तर से एक जांच दल आया था और जांच में अधिकारियों और कर्मचारियों को दोषी पाया था जिसमें वेयर हाउस कारपोरेश कटंगी के तत्कालीन शाखा प्रबंधक संजय डोगरे, ओपी कुशवाहा, पी के गजभिये, डी के जैन, बारेलाल मनोहर वैध, योगराज मेश्राम को दोषी पाया था इनके विरूद्ध कार्यवाही करने के लिये प्रबंध संचालक वेयर हाउस भोपाल को जांच प्रतिवेदन प्रेषित किया गया था लेकिन दोषियों के विरूद्ध आज तक कोई कार्यवाही नही हुई।

इस संबंध में जांच अधिकारी एवं एडीएम शिवगोंविद मरकाम ने अवगत कराया की इस मामले की जांच कर शासन को जांच प्रतिवेदन प्रेषित कर दिया गया है जांच में कुछ अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही पाई गई थी इस मामले में अब तक कोई कार्यवाही क्यों नही हुई इस संबंध में वरिष्ट अधिकारी से ही जानकारी मिल सकती है। इस तरह खरीदी में और रखरखाव में बिते 4 साल और जांच में बिते 2 साल के बाद दोषियो पर कार्यवाही के लिये और कितने साल प्रतिक्षा करनी पडेगी। यह यक्ष प्रश्न शासन की कार्यप्रणाली को रेखाखित करता है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week