तनाव को दूर भगाने वाली आयुर्वेदिक दवाएं

Monday, September 11, 2017

यह तो आप जानते ही हैं कि किसी भी मनुष्य के शरीर को यदि स्वस्थ रखना है तो उसमें वात, पित्त और कफ का बेलेंस बना रहना चाहिए। यह कम या ज्यादा हुए तो बीमारियां घेर लेतीं हैं। आयुर्वेद कहता है कि यदि दिमाग में तनाव है तो शरीर में वात, पित्त और कफ का बेलेंस अपने आप बिगड़ जाता है। डॉक्टर्स फिर उन्हे बेलेंस करने के लिए दवाएं लिखते हैं लेकिन ऐसी सभी दवाएं बेअसर हो जातीं हैं, क्योंकि बीमारी तो तनाव है। उसे भगा देंगे तो सब ठीक हो जाएगा। तो आइए, अपन तनाव को दूर करने वाली आयुर्वेदिक दवाओं के बारे में बात करें। 

ब्राह्मी: तनाव को तेजी से कम करती है
ब्राह्मी तनाव पैदा करने वाले हार्मोन कोर्टिसोल को कम करने का काम करती है। यह तनाव के प्रभावों पर प्रतिक्रियात्मक कार्रवाई करने के लिए भी जानी जाती है। ब्राह्मी दिमाग को शांत रखने के साथ-साथ एकाग्रता बढ़ाने में भी काफी मददगार है।

भृंगराज दिमाग को एनर्जी देता है
भृंगराज दिमाग को निरंतर एनर्जी देने का काम करती है। इससे मस्तिष्क में रक्त प्रवाह दुरुस्त रहता है। यह दिमाग को शांत तो रखती ही है, साथ ही साथ पूरे शरीर को भी काफी आराम पहुंचाती है। इसके तेल से सिर पर मसाज करने पर तनाव से राहत मिलती है।

जटामासी भी ऐंटी स्ट्रेस हर्ब है 
जटामासी, ऐंटी स्ट्रेस हर्ब के रूप में काफी लोकप्रिय है। तनाव भगाने के लिए जटामासी की जड़ों का उपयोग औषधि के रूप में भी किया जाता है। यह जड़ें हमारे दिमाग और शरीर को टॉक्सिन से मुक्त बनाती हैं और ब्रेन फंक्शन्स को दुरुस्त रखने में काफी मदद करती हैं।

अश्वगंधा: दिमाग में एनर्जी को बूस्ट करती है
अश्वगंधा एमीनो ऐसिड और विटमिन का बेहतरीन संयोजन है। यह दिमाग में एनर्जी को बूस्ट करने और स्टैमिना मजबूत करने में काफी मदद करती है।

तनाव से पित्त, कफ और वात का असंतुलन हो जाता है
लखनऊ के आयुर्वेदाचार्य सरोज कुमार के मुताबिक तनाव शरीर को कई तरह से नुकसान पहुंचाता है। इसकी वजह से शरीर में पित्त, कफ और वात का असंतुलन हो जाता है। इसके अलावा ऐलर्जी, अस्थमा, हाई कलेस्ट्रॉल और हाइपरटेंशन जैसी समस्याएं भी डिप्रेशन की वजह से जन्म लेती हैं। वैसे तो आयुर्वेदिक औषधियों के सेवन से तनाव से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है। लेकिन डॉक्टर की सलाह से ही इन औषधियों का सेवन करना चाहिए।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week