आॅपरेशन के दौरान कैंची पट्टी पेट में ही छोड़ दी, दलित महिला की मौत

Advertisement

आॅपरेशन के दौरान कैंची पट्टी पेट में ही छोड़ दी, दलित महिला की मौत

टीकमगढ। टीकमगढ शहर के भगवत नगर काॅलोनी महेश अहिरवार सहित परिजनो ने थाना कोतवाली सहित पुलिस को एक शिकायत पत्र देकर आरोप लगाते हुये बताया है कि महिला रामदेवी अहिरवार को प्रसव पीडा हुई। जिससे आशा कार्यकर्ता के माध्यम से शहर के प्राइवेट जौहरी नार्सिगहोम में भर्ती कराया। जहाॅ पर महिला चिकित्सक श्रीमती सालू जौहरी ने बताया कि  आॅपरेशन द्वारा बच्चा का जन्म होगा। आॅपरेशन के दौरान एक बच्ची का जन्म हुआ जो स्वस्थ है लेकिन महिला चिकित्सक के द्वारा टाके ड्रेर्सिग करते समय महिला के पेट में कैची पटटी छोड दी गई। जिससे महिला की मौत हो गई। 

महेश अहिरवार ने बताया कि 6 मार्च को जौहरी नार्सिग होम में भर्ती किया था। एक बार पुनः 17 मार्च को भर्ती किया गया। इसके बाद 24 मार्च को झाॅसी में शॅकर नार्सिगहोम में भर्ती किया। झाॅसी में डाॅक्टर ने आॅपरेशन के दौरान महिला के पेट मेसे कैची पटटी निकाली। आराम न मिलने पर दिल्ली ले गये। वहाॅ पर आराम न मिलने पर 13 अप्रैल को घर वापस आ गये और 15 अप्रैल को पीडित महिला की मौत हो गई। महेश अहिरवार ने महिला चिकित्सक  पर लापरवाही का आरोप लगाते हुये कार्रबाई की मांग की है।