समग्र आईडी का आधार से eKYC एवं खसरा का सत्यापन, पूरी जानकारी पढ़ें - MP NEWS

मध्य प्रदेश के सभी जिलों में समग्र पोर्टल में नागरिकों के "समग्र आईडी का आधार से ई-केवायसी" शत-प्रतिशत कराये जाने का लक्ष्य है। इस उद्देश्य से एक से 15 मार्च 2024 तक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही इस दौरान भू-स्वामी द्वारा आधार सत्यापित समग्र को राजस्व भू-अभिलेख (खसरे) से लिंकिंग का कार्य भी प्राथमिकता से किया जाना है।

समग्र आईडी का आधार से eKYC कैसे करें

प्रमुख सचिव विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी श्री निकुंज कुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि नागरिकों के लिये समग्र आईडी का आधार से ई-केवायसी का कार्य एमपी ऑनलाइन, कॉमन सर्विस सेन्टर के कियोस्क तथा लोक सेवा केन्द्रों के माध्यमों से किया जा रहा है। साथ ही यह कार्य सीधे समग्र पोर्टल samagra gov in एवं समग्र मोबाइल एप पर भी किया जा सकता है। इस प्रक्रिया में नागरिकों की जानकारी का सत्यापन उनके आधार, आईडी विवरण के अनुसार किया जाता है। समग्र पोर्टल पर समग्र आईडी एवं आधार की जानकारी का शत-प्रतिशत मिलान होने पर ई-केवायसी की प्रक्रिया स्वत: पूर्ण हो जाती है। 

यदि समग्र एवं आधार की जानकारी में अंतर है तो क्या करें

यदि समग्र एवं आधार की जानकारी में अंतर है तो यह प्रक्रिया ग्राम पंचायत/ वार्ड प्रभारी द्वारा सत्यापन के बाद पूरी की जाती है। आधार में त्रुटि होने पर ई-केवायसी कराने से पहले आधार सुधरवाना चाहिए। 

समग्र आईडी का आधार से eKYC के कितने पैसे लगेंगे

नागरिकों के लिये ई-केवायसी प्रक्रिया पूर्णत: नि:शुल्क है। कियोस्क एजेन्सी को प्रति सफल ट्रांजेक्शन के लिये एमपीएसईडीसी द्वारा 18 रूपये प्रति ट्रांजेक्शन दिया जायेगा। ई-केवायसी हेतु जिलेवार, स्थानीय निकायवार, वार्डवार एवं ग्राम पंचायतवार समग्र धारकों की सूची पोर्टल पर उपलब्ध है।

खसरे को ई-केवायसी सत्यापित समग्र आईडी से लिंकिंग

समग्र पोर्टल पर एक अलग माडयूल के माध्यम से केवल ई-केवायसी सत्यापित समग्र आईडी को भूमि से जोड़ने के लिये अनुरोध दर्ज कराया जा सकेगा। यह प्रक्रिया समग्र पोर्टल पर मेन्यू "समग्र से भूमि लिंक करें" पर जाकर की जा सकेगी। यह प्रक्रिया भी एमपी ऑनलाइन, कॉमन सर्विस सेन्टर के कियोस्क तथा लोक सेवा केन्द्रों के माध्यमों से की जा सकती है। साथ ही यह कार्य सीधे समग्र पोर्टल एवं समग्र मोबाइल एप पर भी किया जा सकता है। यह प्रक्रिया भी पूरी तरह से नि:शुल्क है। पटवारी द्वारा सत्यापन के बाद 6 रूपये प्रति खाता एमपीएसईडीसी द्वारा कियोस्क एजेन्सी को दिया जायेगा।

समग्र आईडी से लिंक्ड आधार नंबर पर यदि कोई भू-स्वामी एवं खसरा पहले से लिंक पाया जाता है तो संबंधित भू-स्वामी व खसरा विवरण की जानकारी स्क्रीन पर प्रदर्शित होगी। उपयोगकर्ता द्वारा जिला, तहसील, गांव और सर्वे नंबर का चयन करके भू-स्वामी का विवरण देखने हेतु सबमिट किया जाएगा।

इस जानकारी के अनुसार केवल वही रिकॉर्ड प्रदर्शित हो सकेंगे जो कि पटवारी द्वारा परिमार्जित किए गए हैं। समग्र में उपलब्ध प्रथम नाम खसरे में उपलब्ध भू-स्वामी के प्रथम नाम से 100 प्रतिशत मिलान होने वाले भू-स्वामी की जानकारी ही प्रदर्शित होगी। प्रथम नाम ना मिलने की स्थिति में केवल विवरण प्रदर्शित होगा परंतु इसका चयन नहीं किया जा सकेगा।

एक या एक से अधिक भू-स्वामी की आईडी का चयन करने के बाद आवेदक को आधार-आधारित सत्यापन ओटीपी अथवा बायोमेट्रिक द्वारा करने पर लिंकिंग प्रक्रिया पूरी होगी। भू-स्वामियों एवं खसरों संबंधित सूची राजस्व विभाग द्वारा जिला स्तर पर उपलब्ध कराइ जाएगी। सभी भू-स्वामियों का भू-अभिलेख ई-केवायसी सत्यापित समग्र से लिंक कराना सुनिश्चित किया जाए।

मैदानी अमले द्वारा दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में ई-केवायसी अभियान के लिये संबंधित एजेंसियों (एमपी ऑनलाईन एवं सीएससी कियोस्क) को विशेष अभियान/कैम्पेन/कैंप के लिये आवश्यक सहयोग/समन्वय प्रदान किया जायेगा।

अभियान के तहत क्या किया जाएगा

एजेंसियों के जिला स्तरीय समन्वयकों के साथ सतत संपर्क एवं समन्वय स्थापित कर जिलेवार ई-केवायसी अभियान के क्रियान्वयन के लिये कार्य योजना तैयार कर कार्यवाही की जायेगी। जिले में कलेक्टर कार्यालय द्वारा ई-केवायसी अभियान कैंप के लिये स्थानों का चयन सीएससी एवं एमपी ऑनलाइन जिला प्रबंधकों के समन्वय से किया जायेगा।

निर्देशित किया गया है कि जिला, तहसील, ब्लॉक, पंचायत, ग्राम और वार्ड स्तर पर प्रचार-प्रसार कर नागरिकों को एजेंसियों के केंद्र पर अथवा कैम्प स्थल पहुँच कर ई-केवायसी करवाने हेतु प्रेरित किया जाए। जिन समग्र धारकों के ई-केवायसी पूर्व में किये जा चुके है, एजेंसियों के माध्यम से उनके दोबारा ई-केवायसी प्रक्रिया नहीं की जाएगी।

समग्र आईडी का आधार से eKYC तकनीकी हेल्पलाइन

ई-केवायसी एवं भू-अभिलेख (खसरा) आधार सत्यापित करने की प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की तकनीकी समस्या होने पर ई-मेल samagra.support@mp.gov.in एवं हेल्प डेस्क दूरभाष 0755-2700800, पर संपर्क किया जा सकता है।

कियोस्क एजेसिंयों के साथ राज्य स्तर पर समन्वय के लिये एमपी ऑनलाईन के लिए श्री राजेश गुर्जर, चैनल मेनेजर, मोबाइल –7049923814 ईमेल–rajesh.gurjar@mponline.gov.in एवं CSC के लिए श्री मनीष बादल, प्रबंधक – मोबाइल –9079049144 ई-मेल–manish.badal@csc.gov.in पर संपर्क किया जा सकता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !