EPFO NEWS - भारत के 7 करोड़ प्राइवेट कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज़, CBT ने ब्याज दर बढ़ाई

भारत के प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले 7 करोड़ कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज़ है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने कर्मचारियों द्वारा जमा कराए गए धन पर नवीन ब्याज दर का निर्धारण कर दिया है। यह पिछले तीन सालों में सबसे ज्यादा है। इसका लाभ उन सभी प्राइवेट कर्मचारियों को मिलेगा जिनकी खाता कर्मचारी भविष्य निधि संगठन में खुले हुए हैं एवं उसमें धनराशि जमा है। 

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन - सेंट्रल बोर्ड आफ प्रेस्टीज की बैठक 

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए EPF पर ब्याज की दर 8.25% घोषित कर दी है। यह पिछले तीन सालों में निर्धारित किए गए ब्याज में सबसे अधिक है। इससे पहले 2022-23 में 8.15% और 2021-22 में 8.10% ब्याज दिया गया था। हालांकि इससे पहले वित्तीय वर्ष 2020-21 में ब्याज की दर 8.50% थी। जब ब्याज दर 8.10% की गई तब कर्मचारी संगठनों द्वारा काफी चिंता व्यक्त की गई थी। आज शनिवार को सेंट्रल बोर्ड आफ प्रेस्टीज की बैठक में नवीन ब्याज दर का निर्धारण किया गया। 

EPFO 2023-24 ब्याज दर की अधिसूचना कब जारी होगी

CBT के फैसले के बाद 2023-24 के लिए EPF जमा पर ब्याज दर संबंधी निर्णय को अनुमोदन के लिए वित्त मंत्रालय के पास भेजा जाएगा। सरकार के अनुमोदन के बाद 2023-24 के लिए ईपीएफ पर ब्याज दर ईपीएफओ के छह करोड़ से अधिक ग्राहकों के खातों में जमा की जाएगी। EPFO प्राइवेट सेक्‍टर में काम करने वाले कर्मचारियों के PF अकाउंट के तहत ब्‍याज दर का हर साल ऐलान करती है। कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन के तहत करीब 7 करोड़ कर्मचारी जुड़े हुए हैं। ईपीएफओ के ब्‍याज तय करने के बाद वित्त मंत्रालय अंतिम फैसला लेता है। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !