BHOPAL NEWS - हजारों जनसेवा मित्र दिन भर जंबूरी मैदान में बैठे रहे, कोई देखने नहीं आया

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के जंबूरी मैदान में शनिवार को विभिन्न जिलों से आए हजारों जन सेवा मित्रों ने प्रदर्शन किया। वह दिन भर जंबूरी मैदान में बैठे रहे परंतु सरकार की तरफ से कोई देखने नहीं आया। शाम को पुलिस वाले आए और जंबूरी मैदान खाली करवा लिया। 

मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना को हमने सफल बनाया, जनसेवा मित्रों का दावा

भोपाल के जंबूरी मैदान में शनिवार की सुबह से जन सेवा मित्रों का आना शुरू हो गया था। इनमें महिला जन सेवा मित्रों की संख्या भी काफी थी। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि हम सरकार को चेतावनी देने आए हैं। विधानसभा चुनाव के पहले मुख्यमंत्री महोदय द्वारा जो घोषणा की गई थी उसे पूरा करवाने के लिए आए हैं। प्रदर्शनकारियों ने सरकार को 3 दिन का समय दिया है। इसके बाद अनिश्चितकालीन आंदोलन शुरू किया जाएगा। भोपाल में प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे ऋतुराज यादव ने बताया कि पिछले साल जब पंचायत सचिव और पटवारी हड़ताल पर थे तो जनसेवा मित्रों ने पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के आह्वान पर दिन रात काम किया और मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना को सफल बनाया। 

मोहन यादव सरकार में कोई सुनवाई नहीं हो रही

ऋतुराज यादव ने कहा कि विधानसभा चुनाव के 15 दिन पहले पूर्व सीएम चौहान ने कहा था कि जनसेवा मित्रों के रोजगार पर कोई संकट नहीं आएगा। वे सरकार में रहे या न रहें, जनसेवा मित्रों की भूमिका प्रभावित नहीं होगी। अब मोहन यादव की सरकार में उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। यादव ने कहा कि शिवराज द्वारा नियुक्त किए गए जनसेवा मित्रों की इंटर्नशिप 31 जनवरी को खत्म हो गई है। इसके बाद सभी 9300 जनसेवा मित्रों के सेवाएं खत्म हो गई हैं और अब सरकार न तो यह बता रही है कि वे अभी काम करते रहेंगे या फिर बाहर निकाल दिए जाएंगे जबकि इसको लेकर सभी जिलों में विधायकों और अन्य जनप्रतिनिधियों व अफसरों को पत्र देकर उनके संज्ञान में मामला लाया जा चुका है।

मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की थी

आंदोलन करने वाले जनसेवा मित्रों ने कहा कि पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि जनसेवा मित्रों का काम बंद नहीं होगा। उन्हें स्थायी रोजगार दिया जाएगा। स्वामी विवेकानंद केंद्र बनाकर उसका संचालन जनसेवा मित्रों के द्वारा कराकर रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे। हर 50 परिवार पर एक जनसेवा मित्र नियुक्त किया जाएगा जो उन 50 परिवारों की चिंता करेगा और सरकार तक सूचना पहुंचाएगा। फील्ड में आने जाने के लिए पेट्रोल खर्च भी दिया जाएगा। वेतन में इजाफा किया जाएगा। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।
Tags

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !