MP NEWS - सागर में पंचायत विभाग का क्लर्क लोकायुक्त पुलिस द्वारा गिरफ्तार

मध्य प्रदेश के सागर जिले में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के क्लर्क को लोकल एक्सप्रेस ने एक छापामार कार्रवाई के दौरान गिरफ्तार कर लिया। बताया गया है कि पकड़े गए लिपिक कर्मचारी ने, एक ठेकेदार का बिल साहब की टेबल तक पहुंचाने के बदले में एक प्रतिशत कमीशन मांगा था। 

शिकायतकर्ता ठेकेदार प्रमोद तिवारी ने बताया कि उन्होंने 24 लाख की लागत से एक स्टाप डैम स्वीकृत कराया था, जिसका कार्य पूरा हो गया था। निर्माण के बाद उन्होंने बिल प्रस्तुत किया, लेकिन लिपिक अंकित सैनी के द्वारा उनसे बिल भुगतान के एवज में 24 लाख के बदले एक परसेंट की रिश्वत मांगी जा रही थी। करीब 2 महीने से वह बिल को लेकर परेशान थे, लेकिन बाबू का कहना था कि जब तक उन्हें एक परसेंट की रिश्वत नहीं दी जाएगी। वह बिल फाइनल नहीं करेंगे, इसलिए उन्होंने मजबूर होकर सागर लोकायुक्त में इसकी शिकायत की।

लोकायुक्त सागर टीआई रोशनी जैन ने बताया कि ठेकेदार तिवारी की शिकायत पर उन्होंने आज कार्यालय में दबिश दी, जहां पर प्रमोद तिवारी के द्वारा जैसे ही बाबू को रिश्वत दी गई। उन्होंने उसे रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी बाबू के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में लिया गया है। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !