BHOPAL NEWS - शिवाजी नगर चौराहे पर जानलेवा रोड ब्रेकर, दो लड़कों की मौत

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की लिंक रोड नंबर वन पर स्थित शिवाजी नगर चौराहे पर एक ऐसा रोड ब्रेकर है जो अब तक 500 से अधिक छोटे-मोटे एक्सीडेंट सात लोगों की मौत का जिम्मेदार है। बीती रात हुए एक एक्सीडेंट में दो लड़कों की मौत हो गई। भोपाल में और दूसरा लड़का इंदौर में प्राइवेट जॉब कर रहा था। 

भोपाल एक्सीडेंट में हरदा के अभिराज और सीहोर के रिदम की मृत्यु

एमपी नगर थाना पुलिस ने बताया कि, खिरकिया जिला हरदा निवासी अभिराज सिंह राजपूत, बृजेंद्र सिंह अपने दोस्त रहटी, जिला सीहोर निवासी रिदम गुप्ता, पुत्र विजय गुप्ता, रोहित मुकाती, अभिषेक ठाकुर और छोटू ठाकुर एक विवाह समारोह में शामिल होकर वापस लौट रहे थे। सभी पांचो लड़के HYUNDAI CRETA CAR MP04 ZH 1876 में सवार थे। लिंक रोड नंबर एक पर शिवाजी नगर चौराहे पर बने खतरनाक ब्रेकर के कारण, उनकी कर नियंत्रण से बाहर हो गई और सामने रोटरी से जा टकराई। इसके बाद चिनार पार्क के किनारे बने फुटपाथ पर जाकर पलट गई। इस एक्सीडेंट में अभिराज सिंह और रिदम गुप्ता की मृत्यु हो गई। जबकि शेष तीनों दोस्त गंभीर रूप से घायल है। घटना रात 2:30 बजे की है। 

रोड ब्रेकर जानलेवा है, अब तक 7 लोगों की मौत का जिम्मेदार

संख्या से ज्यादा भी हो सकती है परंतु एक जानकारी सामने आई है कि इस रोड ब्रेकर के कारण अब तक 500 से अधिक छोटे-मोटे एक्सीडेंट और सात लोगों की मृत्यु हो चुकी है। एक्सीडेंट का पैटर्न एक समान है। रोड ब्रेकर पर चढ़ने के बाद CAR आउट ऑफ कंट्रोल हो जाती है। 

इस रोड ब्रेकर का मालिक कौन है, जिम्मेदार कौन है 

भोपाल की लिंक रोड नंबर एक का निर्माण पीडब्ल्यूडी द्वारा किया गया है, लेकिन पीडब्ल्यूडी ने कोई गलती नहीं की। नगर निगम ने जब यहां पर बीआरटी कॉरिडोर बनाया, तब यह रोड ब्रेकर (कल्वर्ट) बनाए गए थे, अर्थात इस जानलेवा रोड ब्रेकर को बनाने के लिए नगर निगम के इंजीनियर जिम्मेदार हैं। 

इस रोड ब्रेकर में क्या गलत है, एक्सीडेंट क्यों होता है

इंडियन रोड कांग्रेस के मुताबिक एक सेमी ऊंची चढ़ाई पर ब्रेकर की लंबाई 15 सेमी (1:15) होनी चाहिए। एक्सपर्ट कहते हैं- इस कल्वर्ट पर तो पैमाना ही बिगड़ा नजर आता है। यहां यदि कोई चार पहिया वाहन 70 किमी/घंटे की रफ्तार से आए तो वह 5-7 फीट दूर जाकर गिरेगा। 

भोपाल पुलिस, क्यों, कुछ नहीं करती

6 जनवरी 2023 को हुए एक्सीडेंट में विदिशा भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष के बेटे और दामाद की जान चली गई थी। तब ट्रैफिक पुलिस ने नगर निगम को इस चौराहे पर मिट चुकी रोड मार्किंग को दोबारा करने की सलाह दी। 11 महीने भी जाने के बावजूद नगर निगम ने यहां पर रोड मार्किंग तक नहीं की है। भोपाल की महापौर श्रीमती मालती राय, अपने स्वागत सत्कार एवं श्री विश्वास कैलाश सारंग के दिशा निर्देशों का पालन करने में व्यस्त रहती है। भोपाल के लिए उनके पास समय नहीं है। 

शिवाजी नगर चौराहे पर यह जानलेवा रोड देकर कहां पर है 

यदि आप न्यू मार्केट से बोर्ड ऑफिस, अरेरा हिल्स अथवा लिंक रोड नंबर 2 की ओर जाना चाहते हैं, तो आपको इस रोड ब्रेकर को क्रॉस करना पड़ेगा। यह शिवाजी नगर चौराहे पर ही है। सड़क अच्छी है इसलिए वहां की स्पीड ज्यादा रहती है परंतु रोड ब्रेकर के कारण लोग स्पीड कम कर लेते हैं। जो लोग सतर्कतापूर्वक ड्राइविंग करते हैं, वह तो बचकर निकल जाते हैं परंतु थोड़ी सी भी लापरवाही नुकसान का कारण बन जाती है। ज्यादातर एक्सीडेंट में वाहनों को डेंट लगता है। कभी-कभी वाहन चालक और वहां में सवार यात्रियों को चोट भी लग जाती है। यदि सड़क सुनसान हो तो फिर यही एक्सीडेंट मृत्यु का कारण बन जाता है। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।
Tags

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !