NAVRATRI 2023 - पढ़िए वह खास बातें जो इस नवरात्रि को सबसे स्पेशल बनाती हैं

अक्टूबर 2023 में नवरात्रि सबसे अलग होगी। मां दुर्गा हाथी पर सवार होकर आएंगी। यह महालक्ष्मी का रूप है। सभी के लिए बेहद शुभ और कल्याणकारी माना जाता है। आचार्य गोविंद बल्लभ के अनुसार पूरे भारतवर्ष में धन-धान्य की वृद्धि होगी। अनाज के भंडार भरे रहेंगे। पूरे देश में सुख और समृद्धि आएगी। मान्यता है कि जो भी व्यक्ति नवरात्रि के इन नौ दिनों में किसी भी प्रकार की विधि विधान से माता की पूजा करेगा। व्रत एवं संकल्प का पालन करेगा। उसकी मनोकामना पूर्ण होगी। कहा तो यह भी जाता है कि इन 9 दिनों में माता की आरती में शामिल होना अथवा माता का प्रसाद ग्रहण करना भी कल्याणकारी होता है। 

NAVRATRI 2023 TITHI and DATES

प्रतिपदा तिथि: 15 अक्टूबर, 2023, शुक्रवार
द्वितीया तिथि: 16 अक्टूबर, 2023, शनिवार
तृतीया तिथि: 17 अक्टूबर, 2023, रविवार
चतुर्थी तिथि: 18 अक्टूबर, 2023, सोमवार
पंचमी तिथि: 19 अक्टूबर, 2023, मंगलवार
षष्ठी तिथि: 20 अक्टूबर, 2023, बुधवार
सप्तमी तिथि: 21 अक्टूबर, 2023, गुरुवार
अष्टमी तिथि: 22 अक्टूबर, 2023, शुक्रवार
नवमी तिथि: 23 अक्टूबर, 2023, शनिवार
दशमी तिथि: 24 अक्टूबर, 2023, रविवार

नवरात्रि पूजा विधि

प्रथम दिन
  • सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और साफ कपड़े पहनें।
  • पूजा स्थल को साफ करें और गंगाजल से पवित्र करें।
  • कलश स्थापना करें।
  • माता दुर्गा की प्रतिमा या तस्वीर स्थापित करें।
  • माता दुर्गा को अक्षत, सिंदूर, फूल, प्रसाद आदि अर्पित करें।
  • दुर्गा चालीसा का पाठ करें।
  • माता दुर्गा की आरती करें।
  • व्रत का संकल्प लें।
ध्यान रखें की व्रत और उपवास, अलग-अलग होते हैं। उपवास में अन्न का त्याग किया जाता है। व्रत का तात्पर्य है संकल्प, एक अच्छी बात का संकल्प, एक बुरी बात को त्याग देने का संकल्प।

शेष 8 दिन
  • सुबह उठकर स्नान करें और साफ कपड़े पहनें।
  • पूजा स्थल को साफ करें।
  • माता दुर्गा को अक्षत, सिंदूर, फूल, प्रसाद आदि अर्पित करें।
  • दुर्गा चालीसा का पाठ करें।
  • माता दुर्गा की आरती करें।
  • व्रत का पालन करें।

नवमी तिथि
  • सुबह उठकर स्नान करें और साफ कपड़े पहनें।
  • पूजा स्थल को साफ करें।
  • माता दुर्गा को अक्षत, सिंदूर, फूल, प्रसाद आदि अर्पित करें।
  • दुर्गा चालीसा का पाठ करें।
  • माता दुर्गा की आरती करें।
  • कन्या पूजन करें।
  • कन्याओं को भोजन कराएं और उपहार दें।

दशमी तिथि
  • सुबह उठकर स्नान करें और साफ कपड़े पहनें।
  • पूजा स्थल को साफ करें।
  • माता दुर्गा की प्रतिमा या तस्वीर को विसर्जित करें।
  • व्रत का समापन करें।

नवरात्रि पूजा सामग्री
  • कलश
  • माता दुर्गा की प्रतिमा या तस्वीर
  • अक्षत
  • सिंदूर
  • फूल
  • प्रसाद
  • दुर्गा चालीसा
  • माता दुर्गा की आरती
  • कन्या पूजन की सामग्री

नवरात्रि पूजा के नियम
  • नवरात्रि के दौरान व्रत रखें।
  • मांस, मदिरा, प्याज और लहसुन का सेवन न करें।
  • सुबह जल्दी उठें और स्नान करें।
  • पूजा स्थल को साफ रखें।
  • माता दुर्गा को सच्चे मन से भक्ति भाव से अर्घ्य दें।
  • कन्या पूजन करें।
 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। ✔ यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें।  ✔ यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !