MP NEWS- चुनाव आयोग ने जबलपुर और भिंड के एसपी को हटाया, कांग्रेस ने शिकायत की थी

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव की निष्पक्षता के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने आज जबलपुर एवं भिंड के एसपी को हटा दिया। कांग्रेस पार्टी ने दोनों की शिकायत की थी। इससे पहले खरगोन और रतलाम के कलेक्टर को हटा दिया गया था। भारत के पांच चुनावी राज्यों में निर्वाचन आयोग ने कुल 38 आईएएस आईपीएस अधिकारियों को तत्काल हटाने के आदेश जारी किए हैं। 

निर्वाचन आयोग ने टीके विद्यार्थी और मनीष खत्री आईपीएस को सपा के पद से हटाया

मध्य प्रदेश शासन गृह विभाग मंत्रालय भोपाल से जारी आदेश के अनुसार भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी श्री तुषारकांत विद्यार्थी को पुलिस अधीक्षक जबलपुर के पद से हटकर पुलिस हैडक्वाटर बुला लिया गया है। श्री विद्यार्थी की पोस्टिंग हाल ही में जबलपुर में हुई थी। इसके अलावा श्री मनीष खत्री आईपीएस को भिंड पुलिस के पद से हटा दिया गया है। नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह ने इनकी शिकायत की थी। कहा था कि श्री मनीष खत्री ने उन्हें चुनाव में परेशान करने के लिए जानबूझकर उनके निर्वाचन क्षेत्र में ब्राह्मण जाति के पुलिस अधिकारियों की पोस्टिंग की है। 

शिवराज सिंह वर्मा एवं नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी IAS को कलेक्टर के पद से को हटाया

मध्य प्रदेश शासन के सामान्य प्रशासन विभाग मंत्रालय से जारी आदेश में बताया गया है कि भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी श्री शिवराज सिंह वर्मा को खरगोन जिले के कलेक्टर के पद से एवं श्री नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी को रतलाम जिले के कलेक्टर के पद से हटा दिया गया है। दोनों अधिकारियों को दिनांक 12 अक्टूबर को राजधानी भोपाल स्थित मंत्रालय में रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है। दोनों जिलों में कलेक्टर के पद का प्रभार जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को सौंप दिया गया है। 

पांच राज्यों में 9 IAS, 25 IPS एवं 4 सीनियर आईएएस हटाए 

चुनाव आयोग के सूत्रों ने बताया कि, चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में 9 जिला मजिस्ट्रेट/DEO, 25 पुलिस आयुक्तों/SP/ASP, 4 सचिव/विशेष सचिव को उनके पद से हटाने और उनके स्थान पर तत्काल उनके जूनियर को प्रभार सौंपने के आदेश जारी किए हैं। इसके साथी राज्य शासन को निर्देशित किया है कि वह 12 अक्टूबर, कार्य दिवस की समाप्ति तक पैनल भेजें। सूत्रों का कहना है कि उपरोक्त सभी अधिकारियों पर किसी विशेष राजनीतिक दल अथवा किसी विशेष नेता के साथ संबंधों ने और उसके लिए पद के दुरुपयोग की शिकायतें थी। जिनके साथ प्रमाण भी संलग्न किए गए हैं। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !