मध्य प्रदेश चुनाव - कांग्रेस पार्टी खतरे में कमलनाथ ने दिल्ली में इमरजेंसी मीटिंग बुलाई - ELECTION NEWS

मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी के प्रत्येक कार्यकर्ता को पूरा विश्वास है कि कांग्रेस पार्टी विधानसभा चुनाव 2023 जीतने वाली है और कमलनाथ की सरकार बनने वाली है लेकिन कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को पता है कि आज की तारीख में सब कुछ खतरे में है। यदि तत्काल कोई प्रबंध नहीं किया गया तो चुनाव में पूर्ण बहुमत मिलना असंभव है। यही कारण है कि कमलनाथ ने चुनावी दौरे छोड़कर दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं की एक इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है। इस मीटिंग में समस्या का समाधान निकाला जाएगा। 

दिल्ली वाली इमरजेंसी बैठक में कौन-कौन 

मध्य प्रदेश के सीएम कैंडिडेट कमलनाथ के साथ कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रदेश प्रभारी रणदीप सुरजेवाला कमलनाथ के मित्र एवं संभावित सरकार में साझेदार दिग्विजय सिंह को बुलाया गया है। एजेंडा सिर्फ एक है, बागी नेताओं को कंट्रोल कैसे करें। मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी में उम्मीदवार चयन की प्रक्रिया से नाराज नेताओं की संख्या काफी ज्यादा है। इसके अलावा जमीनी कार्यकर्ता भी नाराज। इसके कारण कई सीटों में, कांग्रेस की स्थिति कमजोर हो गई है। पिछली बार ओवर कॉन्फिडेंस के कारण समय से पहले सरकार गिर गई थी। इसलिए इस बार कमलनाथ कोई खतरा मोल लेना नहीं चाहते।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की 50 समस्याओं के नाम

  • निवाड़ी रजनीश पटेरिया और रोशनी यादव। 
  • बिजावर राजेश शर्मा और गोविंद विक्रम सिंह। 
  • सुजालपुर बंटी बना। 
  • खरगापुर अजय सिंह यादव। 
  • नरयावली शारदा खटीक और देवेंद्र तोमर। 
  • सागर रमाकांत यादव एवं राहुल चौबे। 
  • सेवड़ा दामोदर यादव। 
  • सोहागपुर सतपाल पलिया। 
  • ग्वालियर ग्रामीण केदार सिंह कंसाना। 
  • ग्वालियर सौरभ तोमर एवं योगेंद्र सिंह तोमर। 
  • शिवपुरी वीरेंद्र रघुवंशी।
  • गंज बासौदा प्रहलाद रघुवंशी। 
  • पानसेमल प्रकाश खेड़कर रमेश चौहान और राजू पटेल। 
  • मनावर विधानसभा राधेश्याम मुवेल। 
  • उज्जैन उत्तर विक्की यादव। 
  • आमला निशा बांगरे। 
  • तराना मुकेश परमार। 
  • सिरोंज सुरेंद्र उपाध्याय और रजत गौड़। 
  • कालापीपल चतुर्भुज तोमर। 
  • भोपाल उत्तर नासिर इस्लाम। 
  • गोविंदपुरा दीप्ति सिंह। 
  • हुजूर जितेंद्र डागा। 
  • बैरसिया राम मेहर। 
  • रीवा कविता पांडे। 
  • त्योंथर सिद्धार्थ पांडे। 
  • सुमावली कुलदीप सिकरवार। 
  • इंदौर 3 अश्विन जोशी। 
  • महू अंतर सिंह दरबार। 
  • धर्मपुरी गजेंद्र सिंह राजू खेड़ी। 
  • बदनावर भंवर सिंह शेखावत। 
  • झाबुआ जेवियर मेड़ा। 
  • बड़नगर राजेंद्र सिंह सोलंकी।  
  • पिपरिया गुरु चरण खरे।
  • जोरा हिम्मत श्रीमल। 
  • सिवनी मालवा ओम प्रकाश रघुवंशी। 
  • बंडा सुधीर यादव। 
  • गोटेगांव शेखर चौधरी। 

नेताओं के बाद कार्यकर्ता भी है

प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया से कई सीटों पर कांग्रेस पार्टी की जमीन कार्यकर्ता नाराज है। कुछ सीटों पर दावा किया जा रहा है कि सर्वे के आधार पर टिकट नहीं दिया गया बल्कि सर्वे के नाम पर स्थानीय नेताओं की देवदारी कमजोर करने का काम किया गया है। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !