MP NEWS- महिला एवं बाल विकास विभाग में 28 जिलों का पोषण आहार पेमेंट रुका

Madhya Pradesh news

मध्य प्रदेश शासन के महिला एवं बाल विकास विभाग ने 28 जिलो का पोषण आहार का पेमेंट रोक दिया है। यह पोषण आहार गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों को दिया जाता है। डिपार्टमेंट का कहना है कि इन जिलों ने पिछले 8 महीने से पोषण आहार की क्वालिटी टेस्ट रिपोर्ट सबमिट नहीं की है। 

मध्य प्रदेश के इन जिलों में पोषण आहार का पेमेंट रुका

  • सागर प्लांट के जिले- पन्ना, सागर, निवाड़ी और छतरपुर।
  • मंडला प्लांट के जिले- बालाघाट, छिंदवाड़ा, सिवनी व नरसिंहपुर।
  • शिवपुरी प्लांट के जिले- दतिया, अशोक नगर, भिंड, मुरैना और शिवपुरी।
  • रीवा प्लांट के जिले- सीधी, सिंगरौली, उमरिया, अनूपपुर और रीवा।
  • देवास प्लांट के जिले- आगर-मालवा, नीमच, शाजापुर, मंदसौर और बुरहानपुर।
  • धार प्लांट के जिले- खंडवा व आलीराजपुर।
  • नर्मदापुरम प्लांट के जिले- हरदा, बैतूल व नर्मदापुरम।
  • बाड़ी प्लांट के जिले- भोपाल, राजगढ़, सीहोर व विदिशा। 

अब क्या होगा 
पोषण आहार का वितरण नहीं रुकेगा। डिपार्टमेंट ने जिलों को टाइम दिया है। क्वालिटी टेस्ट रिपोर्ट सबमिट करने पर पेमेंट रिलीज हो जाएगा। यहां उल्लेख करना अनिवार्य है कि भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार, हर माह खाद्य एवं पोषाहार बोर्ड नई दिल्ली की प्रयोगशाला से इसकी जांच होनी चाहिए। नई दिल्ली में जांच नहीं हो पा रही तो फूड सेफ्टी एंड स्टेंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (फसाई) या नेशनल एक्रेडेशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग एंड कैलिबरेट (एनएबीएल) से संबद्ध संस्थाओं से सैंपल की पड़ताल हो। मप्र में ऐसा कुछ नहीं हो रहा। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है। यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !