कुबेरेश्वर धाम सीहोर कैसे पहुंचे, पढ़िए कौन सा रास्ता बंद है और कौन सा चालू - MP NEWS

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के नजदीक सीहोर में स्थित कुबेरेश्वर धाम में श्रद्धालुओं का मेला लग गया है। 50000 से श्रद्धालु पहुंच गए हैं और 52 एकड़ में बने कुबेरेश्वर धाम के सभी डोम फुल हो गए हैं जहां श्रद्धालुओं के रुकने की व्यवस्था थी। आसपास गांव के लोग एक गिलास पानी के बदले ₹5 मांग रहे हैं। हाथ मुंह धोने के लिए ₹50 और नहाने के लिए ₹100 मांगे जा रहे हैं। एक बार ट्रैफिक में फंसने के बाद वापस लौटना असंभव हो जाता है इसलिए बेहतर है कि आगे बढ़ने से पहले अपना ट्रैफिक प्लान बनाएं। 

कुबेरेश्वर धाम सीहोर पहुंचने का एकमात्र मार्ग खुला है

इंदौर-भोपाल फोरलेन पर बसे चितावलिया हेमा गांव से होकर गुजरने वाले कुबेरेश्वर धाम के मुख्य मार्ग से आवाजाही बंद कर दी गई है। श्रद्धालुओं को इंदौर वाले मार्ग पर एक किमी दूर भटोनी रोड कट से पांच किमी का फेरा लगाकर कथास्थल तक पहुंचाना होगा। निजी वाहन से आने वाले श्रद्धालुओं को कथा स्थल से डेढ़ सौ मीटर पहले पार्किंग बनाई गई है। पार्किंग फुल हो जाने के बाद क्या होगा, कोई प्लान घोषित नहीं किया गया है। 

गुड़भेला गांव का कट प्वाइंट पुलिस ने बंद करवा दिया है

हादसे रोकने के लिए फोरलेन पर स्थित चितावलिया हेमा और सामने बसे गुड़भेला गांव के बीच के कट पॉइंट को पुलिस ने जेसीबी से खुदवाकर ट्रेंच बनवा दिया है, ताकि बीच से बाइक, ऑटो या छोटे वाहन क्रॉस न कर सकें। इसलिए कृपया यहां से प्रवेश करने की प्लानिंग बिल्कुल ना करें। 

फोरलेन पर वाहन खड़े ना करें, जप्त हो जाएंगे

वाहन फोरलेन पर खड़ा किया तो चालान बनेगा, जब्त भी होगा। पुलिस ने इंदौर-भोपाल फोरलेन पर वाहन खड़ा करना प्रतिबंधित कर दिया है। ट्रैफिक पुलिस के वाहन माइक पर बार-बार अनाउंस कर रहे हैं कि सड़क पर वाहन खड़े नहीं करें। वहीं बड़े-बड़े पोस्टर भी लगाए गए हैं कि वाहन फोरलेन पर खड़ा करने पर जुर्माना भरना पड़ेगा और वाहन भी जब्त हो जाएगा। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।