MP NEWS- नरोत्तम मिश्रा को दीपिका पादुकोण से पंगा महंगा पड़ गया, गांधी-गोडसे पर भी चुप

भोपाल
। मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार के प्रवक्ता एवं गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा को दीपिका पादुकोण से पंगा लेना महंगा पड़ गया। नेशनल एग्जीक्यूटिव कमिटी में पीएम मोदी ने नेगेटिव कमेंट किया। अब स्थिति यह है कि पॉलिटिकल कमेंट के लिए बनाई गई फिल्म 'गांधी-गोडसे एक युद्ध' पर भी मिश्रा जी ने चुप्पी साध ली। 

बॉलीवुड ने डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा पर जवाबी हमला किया था

आपको याद होगा हाल ही में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने शाहरुख खान की फिल्म पठान में दीपिका पादुकोण के कपड़ों के रंग को लेकर आपत्ति जताई थी। यहां तक कह दिया था कि हम फिल्म को मध्यप्रदेश में प्रतिबंधित कर देंगे। डॉ मिश्रा के इस बयान पर पार्टी ने उनका साथ नहीं दिया परंतु उन्होंने अपना मोर्चा नहीं छोड़ा। उनकी सोशल मीडिया सेना ने लगातार हमले किए। और मामले को मुद्दा बना ही दिया परंतु इस बार बॉलीवुड की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया सामने आई। कई कलाकार एकजुट हुए। उनमें से कुछ ने खुलकर बयान भी दिए। 

राष्ट्रीय कार्यकारिणी में प्रधानमंत्री ने भी आपत्ति जताई

इसी सप्ताह दिल्ली में हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने इस तरह की बयानबाजी पर आपत्ति जताई। उन्होंने नाम नहीं लिया लेकिन सबको समझ में आ गया कि वह नरोत्तम मिश्रा के बारे में बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारे एक नेता तो हर रोज फिल्मों पर टिप्पणी किया करते हैं। पलक झपकते ही डॉ मिश्रा का ग्राफ डाउन हो गया। 

दीपिका से जले नरोत्तम मिश्रा गांधी-गोडसे एक युद्ध पर भी चुप 

वह कहते हैं ना कि दूध का जला छाछ को भी फूंक फूंक कर पीता है। बिल्कुल वैसा ही हुआ है। दीपिका पादुकोण प्रकरण के बाद पार्टी के शीर्ष से जिस प्रकार की प्रतिक्रिया मिली उसके बाद डॉ नरोत्तम मिश्रा ने फिल्मों के बारे में बात करना ही बंद कर दिया। गांधी-गोडसे एक युद्ध एक पॉलिटिकल फिल्म है। इस फिल्म को राजनीति में चर्चा के लिए ही भेजा गया है परंतु आज जब पत्रकारों ने डॉक्टर मिश्रा से गांधी-गोडसे एक युद्ध पर प्रतिक्रिया मांगी तो लगातार दो प्रश्नों पर वह न केवल चुप रहे बल्कि असहज हो गए थे। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।