MP NEWS- सागर में भाजपा नेता का 4 मंजिला होटल डायनामाइट से उड़ाया, हत्या का आरोपी

भोपाल
। मध्य प्रदेश के सागर शहर में हत्या के आरोपी भाजपा नेता मिश्री चंद गुप्ता का 4 मंजिला आलीशान होटल प्रशासन द्वारा डायनामाइट लगाकर ढहा दिया गया। ठीक 13 घंटे पहले प्रशासन ने भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात करके होटल को अपने कब्जे में ले लिया था। पूरे होटल में 60 डायनामाइट लगाए गए। मंगलवार रात करीब 7:30 बजे ब्लास्ट किया गया और मात्र 7 सेकंड में पूरा होटल मलबे में तब्दील हो गया। 

मकरोनिया हत्याकांड का आरोपी है भाजपा नेता मिश्रीचंद गुप्ता

पिछले दिनों एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें दिखाई दे रहा था कि थार जीप से सागर शहर के मकरोनिया में एक युवक की सरेआम कुचल कर हत्या कर दी गई थी। भारतीय जनता पार्टी के नेता मिश्री चंद्र गुप्ता सहित कुल 8 आरोपियों को नामजद किया गया था। इनमें से 5 की गिरफ्तारी हो गई है जबकि भाजपा नेता मिश्री चंद्र गुप्ता सहित 3 आरोपी फरार बताए गए हैं। भाजपा ने मिश्री चंद को निष्कासित कर दिया था लेकिन फिर भी आरोप लग रहे थे कि सत्तारूढ़ पार्टी अपने नेता को बचा रही है। 

सागर में भाजपा नेता ने होटल का अवैध निर्माण किया था: कलेक्टर

आरोपी मिश्रीचंद गुप्ता और उसके परिवार की होटल जयराम पैलेस मकरोनिया चौराहे के पास स्थित है। चार मंजिला होटल का निर्माण अवैध बताया गया। इसके बाद पुलिस और प्रशासन की टीम मंगलवार को होटल तोड़ने की कार्रवाई करने पहुंची। इस दौरान कलेक्टर दीपक आर्य, एसपी तरुण नायक, एसडीएम, तहसीलदार ने निरीक्षण किया। उन्होंने होटल के आसपास के लोगों को हटवाया। साथ ही, होटल तोड़ने की कार्रवाई शुरू कराई गई। इस दौरान पुलिस बल भी तैनात रहा।

मिश्रीचंद, जितेन्द्र और धर्मेंद्र गुप्ता की सागर पुलिस को तलाश

मामले में पुलिस ने 8 आरोपियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। इनमें से 5 आरोपी वकीलचंद गुप्ता, लवी गुप्ता, लकी गुप्ता, हनी गुप्ता और आशीष मालवीय गिरफ्तार हो चुके हैं। वहीं, भाजपा से निष्कासित आरोपी मिश्रीचंद गुप्ता, जितेन्द्र गुप्ता और धर्मेंद्र गुप्ता फरार हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने उनके पोस्टर चस्पा कराए हैं। सूचना देने और गिरफ्तार कराने वाले को एक-एक हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की गई है।

सागर के मकरोनिया चौराहे पर जगदीश यादव की हत्या की गई थी

घटना सागर के मकरोनिया की है। 22 दिसंबर की रात मकरोनिया चौराहे जगदीश यादव उर्फ जग्गू की जीप से कुचलकर हत्या कर दी गई थी। जगदीश (30) मकरोनिया थाना क्षेत्र के कोरेगांव का रहने वाला था। वह मकरोनिया चौराहे पर पवन यादव की डेयरी पर काम करता था। वह निर्दलीय पार्षद किरण यादव का भतीजा था। किरण यादव ने मिश्रीचंद गुप्ता की पत्नी मीना को पार्षद चुनाव में 83 वोट से हराया था।

हत्या की इस वारदात के दूसरे दिन मृतक जगदीश के परिवार और समाज के लोगों ने बड़ा प्रदर्शन किया था। जिसके बाद प्रशासन ने मिश्रीचंद के होटल के अवैध हिस्से को गिरा दिया था। पुलिस ने इस मामले में आरोपी लवी गुप्ता, लकी गुप्ता, हनी गुप्ता, मिश्रीचंद गुप्ता, वकील गुप्ता, धर्मेंद्र गुप्ता, जितेंद्र गुप्ता और आशीष मालवीय पर केस दर्ज किया था।

मिश्रीचंद गुप्ता के पिता एल्यूमीनियम के बर्तन बेचते थे

आरोपी मिश्रीचंद गुप्ता का परिवार मूलत: उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। उनके पिता नेपाल बॉर्डर के नजदीक UP के एक गांव से आए थे। जो मकरोनिया में एल्यूमीनियम के बर्तन बेचने का काम करते थे। आरोपी मिश्रीचंद गुप्ता ने 90 के दशक में भाजपा में एंट्री की थी। वह भाजपा परिवहन व सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के जिला संयोजक के अलावा विभिन्न पदों पर रहे है।

पाइपलाइन घोटले में आया था भाजपा नेता का नाम

मिश्रीचंद गुप्ता का नाम करीब 20 साल पहले नगर निगम के पाइप लाइन घोटाले में चर्चा में आया था। हालांकि, पाइप लाइन उखाड़ने का अधिकृत तौर पर ठेका किसी दूसरे के नाम पर था। बीड़ की यह पाइपलाइन रातोंरात उखाड़कर कबाड़ में बेच दी गई थी। एक ट्रक माल भी जब्त हुआ था। मामले में निगम ने पाइपलाइन चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई। यह मामला विधानसभा में भी उठा और लोकायुक्त तक पहुंचा। बाद में आरोप सिद्ध नहीं हो पाए।

केंद्रीय मंत्री, सांसद से लेकर विधायक तक नजदीकी संबंध

मिश्रीचंद का भाजपा की राजनीति में बड़ा नाम है। उनके केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र खटीक, पूर्व सांसद लक्ष्मी नारायण यादव, नरयावली विधायक प्रदीप लारिया और महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष लता वानखेड़े से नजदीकी संबंध रहे है। उन्होंने 1993 में कोरेगांव से पंच का चुनाव लड़ा था। इसके बाद एक बार मकरोनिया नगर पालिका के वार्ड 9 और फिर वार्ड 11 कोरेगांव से पत्नी को चुनाव लड़ाया।