कमलनाथ सर, आपकी कसम प्रदेश बदनाम नहीं होगा, खुलासा कर ही दीजिए- Khula Khat

कमलनाथ सर
, आज आपने एक बार फिर प्रदेश के सम्मान के नाम पर उन कालियाओं को बचा लिया जिनकी काली करतूतों से पूरा मध्य प्रदेश शर्मसार है। जिनका अस्तित्व मध्यप्रदेश के माथे पर काला कलंक है। पता नहीं आपको किसने बता दिया कि ऐसे कालियाओं की कलई खोलने से प्रदेश बदनाम हो जाएगा। 

कमलनाथ सर चेक कीजिए, वह वीडियो आपकी क्लाउड होस्टिंग में भी हो सकते हैं

कमलनाथ सर, यहां उसी सीडी और पेन ड्राइव की बात चल रही है जो आप के शासनकाल में पुलिस के हाथ लगी थी। उस समय बताया गया था कि पुलिस ने उसकी एक कॉपी आपको भी दी है। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी आपने ऐसा कुछ कहा था। अब आप कह रहे हैं कि आपके पास कोई सीडी नहीं है। हालांकि आपने यह नहीं कहा कि आपके पास कोई पेनड्राइव नहीं है। और अब तो क्लाउड होस्टिंग का जमाना है। वीडियो को सेव रखने के लिए किसी सीडी और पेनड्राइव की जरूरत नहीं पड़ती। कृपया चेक कीजिए हो सकता है आपकी क्लाउड होस्टिंग में वह वाली फाइल मिल जाए। ना मिले तो कृपया डॉक्टर गोविंद सिंह से ले लीजिए। उन्होंने कहा है कि उनके पास है। आपकी पार्टी के नेता है, आपकी बात तो मानेंगे। 

कमलनाथ सर, मैं तो सिर्फ इतना कहना चाहता हूं कि यदि है तो सार्वजनिक कर दीजिए और यदि नहीं है तो स्पष्ट कर दीजिए। मध्य प्रदेश के बदनाम वाली लाइन मत बोला कीजिए। मध्यप्रदेश की पहचान 150 नेताओं और 127 दागी अधिकारियों से नहीं है। मध्यप्रदेश की पहचान यहां के डॉक्टरों से हैं, इंजीनियरों से है, बिजनेसमैन से है, स्टार्टअप से है, खिलाड़ियों से है, टॉपर से है। 

40 साल के पॉलिटिकल एक्सपीरियंस के बाद इस तरह की स्टेटमेंट अच्छे नहीं लगते। मिशन और विजन की बात कीजिए। कुछ लोग आपसे उम्मीद रखते हैं। आपके इस तरह के स्टेटमेंट निराश करते हैं। 

बस इतना सा निवेदन है, किसी घटिया सीडी से मध्यप्रदेश बदनाम नहीं होता। हां, इस तरह के बयानों से ऐसा जरूर लगता है जैसे कोई किसी को ब्लैकमेल कर रहा है। ✒ उमाकांत कश्यप कश्यप 

अस्वीकरण: खुला-खत एक ओपन प्लेटफार्म है। यहां मध्य प्रदेश के सभी जागरूक नागरिक सरकारी नीतियों की समीक्षा करते हैं। सुझाव देते हैं एवं समस्याओं की जानकारी देते हैं। पत्र लेखक के विचार उसके निजी होते हैं। इससे पूर्व प्रकाशित हुए खुले खत पढ़ने के लिए कृपया Khula Khat पर क्लिक करें. यदि आपके पास भी है कुछ ऐसा जो मध्य प्रदेश के हित में हो, तो कृपया लिख भेजिए हमारा ई-पता है:- editorbhopalsamachar@gmail.com